Home Varanasi News Demonetization Pm Modi Helps A Girl Form Varanasi Sends Her 20000 Rs For Marriage

मीट कारोबारी मोईन कुरैशी की न्यायिक हिरासत 6 अक्टूबर तक बढ़ाई गई

वाराणसीः PM मोदी ने कई विकास परियोजनाओं को लांच किया, CM योगी भी रहे मौजूद

पूर्व CM अखिलेश यादव के सुरक्षा कर्मियों ने जाम में फंसने पर संभाली लखनऊ की ट्रैफिक व्यवस्था

प. बंगाल: पुलिस ने बरामद किए अमोनियम नाइट्रेट के 51 पैकेट

तमिलनाडु: फ्लाईओवर से गिरी सरकारी गाड़ी, छह कर्मचारियों की मौत

Trending :   #Hot_Photoshot   #Sports   #Politics   #Hollywood   #Bollywood

... और पीएम ने भेज दिए बीस हजार रुपये

Varanasi | 20-Nov-2016 04:39:06 PM
     
  
  rising news official whatsapp number

  • शादी को लेकर परेशान थी वाराणसी की  लड़की
  • लिखा था पीएम मोदी को खतमिले 20,000 रुपए

Demonetization pm modi helps a girl form Varanasi sends her 20000 rs for marriage


दि राइजिंग न्‍यूज

20 नवंबर, वाराणसी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 500 और 1000 रुपए के नोट बंद होने से परेशान एक परिवार की मदद की है। वह परिवार पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में रहता है। जितेंद्र साहू नाम के एक शख्स की बेटी की शादी होनी है। वह फिलहाल बेरोजगार है लेकिन उसने कुछ पैसे जोड़ रखे थे जो वह शादी में लगाना चाहता था लेकिन नोटबंदी ने उसका वह विकल्प भी बंद कर दिया। इसपर जितेंद्र की बेटी ज्योति साहू ने पीएम मोदी को एक पत्र लिखा। उस पत्र में ज्योति ने अपने परिवार की सारी परेशानियों का जिक्र किया था। ज्योति ने 9 नवंबर यानी नोटबंदी के अगले दिन ही पीएम मोदी को पत्र भेज दिया था। लेकिन 9 दिन बाद जो हुआ उसने ज्योति के साथ-साथ उसके परिवार के बाकी लोगों को भी चौंका दिया। जिले का एक अधिकारी उनके घर पर आया और उसने जितेंद्र साहू को 20 हजार रुपए नकद थमा दिए। जिला अधिकारी ने जानकारी दी कि वह पैसा पीएम मोदी ने ज्योति का पत्र पढ़ने के बाद भेजा है।

 

गौरतलब है कि पीएम मोदी ने 8 नवंबर की रात को नोटबंदी का ऐलान किया था। उन्होंने कहा था कि 30 दिसंबर के बाद से 500 और 1000 रुपए के नोट चलने बंद हो जाएंगे। तब से ही बैंक और एटीएम के बाहर की लाइन खत्म होने का नाम नहीं ले रही। हालांकि, सरकार की तरफ से वक्त-वक्त पर नीतियों में जरूरी बदलाव किए जा रहे हैं लेकिन उससे कोई खास फायदा होता दिख नहीं रहा।

 

नोटबंदी पर विपक्ष लगातार मोदी सरकार को घेरने की कोशिश में लगा है। कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने 55 व्यक्तियों की एक सूची जारी की जिन्होंने उच्च मूल्य के नोट चलन से बाहर होने के मद्देनजर बैंकों एवं एटीएम के बाहर पंक्ति में खड़े रहने के दौरान अपनी जान गंवाई। रणदीप सुरजेवाला ने उन सबके परिवारों को मुआवजे के साथ ही उनकी मौत की जांच की भी मांग की। तानाशाह प्रधानमंत्री के कठोर निर्णय के चलते 55 मौतें हुईं। इसके लिए कौन जिम्मेदार है? प्रधानमंत्री को उन व्यक्तियों के परिवारों से माफी मांगनी चाहिए जिन्होंने अपनी जान गंवाई और उन्हें देश से भी माफी मांगनी चाहिए। यह उनके असंगत निर्णय के चलते हुआ।


फेसबुक पर हमसे जुड़ें

क्लिक करें ट्विटर पे फॉलो करने के लिए



जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

संबंधित खबरें

HTML Comment Box is loading comments...

 


Content is loading...



What-Should-our-Attitude-be-Towards-China


Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll



Photo Gallery
जय माता दी........नवरात्र के लिए मॉ दुर्गा की प्रतिमा को भव्‍य रूप देता कलाकार। फोटो - कुलदीप सिंह

Flicker News


Most read news

 



Most read news


Most read news


खबर आपके शहर की