Home Up News Yogi Government Gives Four Cases To CBI For Inquiry

गुरुग्राम: बीजेपी नेता सूरज पाल अम्मू के खिलाफ दर्ज हुई FIR

J-K: हंदवाड़ा मुठभेड़ में तीन लश्कर आतंकी ढेर, सर्च ऑपरेशन जारी

WB: 24 परगना के एक आश्रम से 25 अंडर ट्रायल किशोर फरार, 7 पकड़े गए

लुधियाना अपडेट: जिला आयुक्त ने बताया निकाले गए 10 शव, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

तमिलमनाडु: रामनाथपुरम में 4 भारतीय मछुआरों को श्रीलंका नेवी ने किया अरेस्ट

योगी ने दिए चार केस, CBI कर रही सिर्फ एक की जांच

UP | 08-Nov-2017 13:55:34 | Posted by - Admin
   
Yogi Government Gives Four Cases To CBI for Inquiry

दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।  

 

यूपी की सत्‍ता में योगी सरकार के 19 नवंबर को आठ महीने पूरे हो जाएंगे। इन आठ महीनों में योगी सरकार ने पूर्व सरकार की कई योजनाओं की जांच कराई है। सीबीआइ जांच के लिए योगी सरकार ने चार मामलों की संस्तुति की, लेकिन सीबीआइ ने सिर्फ एक मामले की जांच का जिम्मा लिया, बाकी मामला अभी तक ठंडे बस्ते में हैं।

ऐसे में सवाल ये उठ रहा है कि जब यूपी से लेकर केंद्र तक बीजेपी की सरकार है, उस वक्त चार मामलों में सिर्फ एक की जांच सीबीआइ क्यों कर रही हैं?

 

 

बहराइच जि‍ले के रहने वाले अनुराग तिवारी कर्नाटक कैडर के आइएएस थे। मई महीने में लखनऊ के मीराबाई मार्ग स्थित स्टेट गेस्ट हाउस में एलडीए वीसी के साथ ठहरे हुए थे। बीते 17 मई की सुबह गेस्ट हाउस की कुछ दूरी पर नाली के किनारे उनका शव पड़ा हुआ था, जिसकी सूचना मिलने पर पहुंची।

पुलिस ने उनके जेब से मिले दस्तावेज से शिनाख्त की, जिसके बाद पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया। इस बारे में अनुराग के भाई ने हजरतगंज कोतवाली में मर्डर का केस दर्ज कराया।

 

 

इस मामले में प्रदेश सरकार ने सीबीआइ जांच के लिए 23 मई को संस्तुति पत्र केन्द्रीय कार्मिक विभाग को भेज दिया था। योगी सरकार की संस्तुति के बाद मामले में सीबीआइ जांच शुरू हुई थी। कई महीने के बाद अभी सरकार किसी नतीजे पर नहीं पहुंची है।

 

 

वहीं 15 जून को सीएम योगी आदित्यनाथ ने शिया और सुन्नी वक्फ बोर्ड में हुए घोटालों की जांच की संस्तुति भी सीबीआई से की थी, लेकिन इस मामले की जांच अभी तक नहीं शुरू हुई। वक्फ बोर्ड के घोटाले में शिया और सुन्नी वक्फ बोर्ड के चेयरमैन पर आरोप है कि हजारों करोड़ की अवैध सम्पत्ति और वक्फ की जमीनों पर कब्जा करके अवैध निर्माण करा रखा है।

यही नहीं वक्फ बोर्ड की जमीनों को बेचने का भी आरोप है। यह घोटाला लगभग 500 से 1000 करोड़ का है, लेकिन इस मामले की जांच भी अभी शुरू नहीं हुई है।

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555



संबंधित खबरें



HTML Comment Box is loading comments...

Content is loading...



TraffBoost.NET

Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll


What-Should-our-Attitude-be-Towards-China


Photo Gallery
गोमती तट पर दीप आरती करती महिलाएं। फोटो- अभय वर्मा



Flicker News

Most read news

 


Most read news


Most read news


sex education news

खेल-कूद