Pregnant Actress Neha Dhupia Shares Her Opinion on Pregnancy

दि राइजिंग न्यूज

लखनऊ।

 

वाराणसी में फ्लाई ओवर की बीम गिरने के कारण हुए हादसे और 15 लोगों की मौत के मामले में सेतु निगम के प्रबंध निदेशक राजन मित्तल को गुरुवार को हटा दिया गया। यह कार्रवाई मुख्यमंत्री द्वारा गठित कमेटी की रिपोर्ट आने के बाद की गई। अपनी पहुंच और जुगाड़ के भरोसे मलाईदार पोस्टिंग कराने में माहिर राजन मित्तल को कमेटी ने लापरवाही का दोषी ठहराया है। उल्लेखनीय है कि इस मामले में प्रोजेक्ट मैनेजर सहित चार लोगों को हादसे के बाद निलंबित कर दिया गया था।

 

सेतु निगम में प्रबंध निदेशक पद पर तैनात राजन मित्तल ने हादसे के लिए जिला प्रशासन व पुलिस को हादसे का जिम्मेदार बताने में कोई कसर नहीं छोड़ी थी। खास बात यह है कि चार साल से बन रहे इस फ्लाई ओवर का निरीक्षण करने स्वंय प्रबंध निदेशक वहां पहुंचे ही नहीं जबकि शासन को प्रतिदिन की कार्य रिपोर्ट प्रेषित की जा रही थी। हादसे की जांच में इसकी पुष्टि हुई है। इसके बाद गुरुवार शाम राजन मित्तल को सेतु निगम के प्रबंध निदेशक पद से हटा दिया। उनके स्थान जेपी श्रीवास्तव सेतु निगम का नया प्रबंध निदेशक बनाया गया है।

पहले से ही हैं कई दाग

सेतु निगम के प्रबंध निदेशक राजन मित्तल सत्ता के गलियारों में अपनी पहुंच और पकड़ के कारण जाने जाते हैं। इसके पहले उनके ऊपर फर्जी बैंक प्रतिभूति पर 1200 करोड़ से रुपये के काम देने का घोटाला करने का आरोप लगा था। इसी तरह से एक कांट्रक्शन कंपनी को 455 करोड़ का ठेका तथा बैंक में फर्जी 25 करोड़ रुपये की एफडी लगाने के मामले में भी उनका नाम आया था। मामले के तूल पकड़ने पर उन पर प्राथमिकी भी दर्ज हुई लेकिन अपनी पहुंच की बदौलत वह फिर मलाईदार पद पर तैनाती पाने में सफल रहें। यहीं, उनके खिलाफ दर्ज प्राथमिकी भी ठंडे बस्ते में पहुंचा दी गई।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement