Loveratri First Song Release

दि राइजिंग न्‍यूज

आगरा।

 

उत्‍तर प्रदेश पुलिस अब ताजमहल के पास ड्रोन उड़ाने वालों पर शिकंजा कसने की तैयारी कर रही है। पुलिस ने उन लोगों पर आपराधिक मामला दर्ज करने का फैसला लिया है जो प्यार की इमारत के करीब ड्रोन उड़ाते हैं। यह फैसला रविवार को लिया गया, क्योंकि लगातार चेतावनी दिए जाने का कोई असर नहीं पड़ रहा है।

अधिकारियों के अनुसार साल 2017 के दौरान विश्व की ऐतिहासिक इमारत के पास करीब 20 बार ड्रोन देखे गए थे। मगर आपराधिक कार्यवाही करने का नियम होने के बावजूद भी पुलिस ने अब तक किसी के खिलाफ मामला दर्ज नहीं किया है।

आइपीसी की इन धाराओं में दर्ज होगा केस

शहर के पुलिस अधीक्षक कुंवर अनुपम सिंह ने कहा कि यदि कोई शख्स ताजमहल के आस-पास ड्रोन उड़ाते हुए पकड़ा जाता है तो उसके खिलाफ भारतीय दण्ड संहिता की धारा 287 (मशीन के संबंध में लापरवाह व्यवहार), 336 (अपने जीवन को या दूसरों की व्यक्तिगत सुरक्षा को खतरे में डालना), 337 (अपने जीवन को या दूसरों की व्यक्तिगत सुरक्षा को खतरे में डालने से चोट लगना) और 338 (अपने जीवन को या दूसरों की व्यक्तिगत सुरक्षा को खतरे में डालने के कारण गंभीर चोट लगना) के तहत केस दर्ज किया जाएगा।

सुरक्षा की दृष्टि से ड्रोन का प्रयोग निषेध

अनुपम सिंह का कहना है कि ताज के पास ड्रोन का इस्तेमाल करना सुरक्षा की दृष्टि से निषेध है। वह पहले लोगों में नियम को लेकर जागरुकता पैदा करने के लिए अभियान चलाएंगे। उन्होंने कहा, हम होटल मालिकों औऱ उनकी एसोसिएशन से संपर्क कर रहे हैं ताकि उन्हें नियम के बारे में बताया जा सके। उन्हें सलाह दी जाएगी की वह अपने मेहमानों को इस निषेध के बारे में जानकारी दें।

आगरा के सीआइएसएफ कमांडेंट बृज भूषण ने इस मामले पर कहा कि इस तरह की मशीनों को उड़ाने की घटनाएं पुलिस द्वारा सख्त कदम उठाए जाने के बाद ही रुक पाएंगी। इससे दूसरे लोग भी ताज के आसपास ड्रोन उड़ाने से बचेंगे।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Public Poll