Rani Mukerji to Hoist the National flag at Melbourne Film Festival

दि राइजिंग न्‍यूज

अलीगढ़।

 

सोमवार को यूपी पुलिस ने अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) के लापता पीएचडी छात्र मनान वानी की तलाश में यूनिवर्सिटी में छापेमारी की। एसएसपी के नेतृत्व में जिला पुलिस की एक टीम ने हॉस्टल में जाकर मनान वानी के कमरे की तलाशी ली।

आरोपी छात्र के कमरे को सील कर दिया गया है। यूनिवर्सिटी प्रशासन ने संदेह के आधार पर मनान वानी को तत्काल प्रभाव से निलंबित भी कर दिया है।

 

 

 

इस बीच एडीजे कानून-व्यवस्था आनंद कुमार ने पुष्टि की है कि मन्नान अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी का छात्र है। उसके साथ ही हॉस्टल के कमरे में रहने वाला एक अन्य छात्र मुजम्मिल भी पिछले चार महीने से लापता है। हॉस्टल के मेस वाले ने बताया कि मन्नान को दो जनवरी को अंतिम बार देखा गया था। उन्होंने बताया कि सुरक्षा एजेंसियां मामले की जांच कर रही हैं।

 

 

 

बता दें, एएमयू के पीएचडी के छात्र मनान वानी ने कथित रूप से आतंकवादी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन जॉइन कर लिया है। बताया जा रहा है कि एसएसपी के नेतृत्व में भारी पुलिस बल ने हॉस्टल में छात्र के कमरे की तलाशी ली। इस बीच एएमयू के छात्र के आतंकी संगठन में शामिल होने की अटकल से विश्वविद्यालय प्रशासन और छात्रों में हड़कंप मच गया है। एएमयू प्रशासन मनान वानी के मामले पर चुप्पी साधे हुए है। साथ ही किसी भी प्रकार की जानकारी होने से इनकार कर रहा है।

 

 

कौन है मनान वानी?

जम्मू-कश्मीर पुलिस के सूत्रों ने एक अखबार दी जानकारी में बताया कि वानी के पिता का नाम बशीर अहमद वानी है और वह जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले के ताकिपोरा गांव का रहने वाला है। पुलिस के मुताबिक वानी तीन दिन पहले ही एएमयू से कश्मीर गया था।

 

 

एक पुलिस अधिकारी ने बताया, मनान वानी पिछले पांच साल से एएमयू में पढ़ रहा था। वह एमफिल कर रहा था। वह अब जिऑलजी में पीएचडी कर रहा था। वह यूनिवर्सिटी से घर नहीं आया। दो दिन पहले राइफल के साथ उसकी फोटो फेसबुक पर वायरल हो गई, जिसमें लिखा था कि उसने पांच जनवरी को हिज्बुल जॉइन कर लिया।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll