Kareena Kapoor Will Work With SRK and Akshay Kumar in 2019

दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।  

 

यूपी की पयर्टन मंत्रालय से जारी बुकलेट में बेमिसाल ताजमहल को जगह नहीं दी गई। इसके बाद अब 2018 के लिए योगी सरकार ने हेरिटेज कैलेंडर धनतेरस के मौके पर जारी किया। खास बात ये है कि इसमें ताजमहल को जुलाई महीने के पेज पर छापा गया है। इस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की फोटो है। कैलेंडर पर बीजेपी का स्लोगन- “सबका साथ, सबका विकास” लिखा है।

 

 

 

इस बार के हेरिटेज कैलेंडर में गोरखपुर के गोरखनाथ मंदिर को भी शामिल किया गया है। बनारस के काशी विश्वनाथ मंदिर, विंध्याचल, मथुरा के बरसाने की होली, कृष्ण जन्मस्थली, झांसी का किला और सारनाथ को भी इसमें जगह मिली है।

अयोध्या की राम की पैड़ी, इलाहाबाद का त्रिवेणी संगम और पीलीभीत का गुरुद्वारा भी इस कैलेंडर भी शामिल है।

 

वहीं मंगलवार को ताजमहल पर जारी तकरार के बीच योगी आदित्यनाथ ने कहा, ताज महल भारत के मजदूरों के खून और पसीने से बना है। ताजमहल को किसने बनाया और बनाने की वजह क्या थी, ये मायने नहीं रखता। ताजमहल हमारे लिए बहुत अहमियत रखता है, खासकर टूरिस्ट के लिए। हमारी प्राथमिकता यही है कि वहां सुविधाएं हों और टूरिस्ट सुरक्षित रहें।

 

इससे पहले रविवार को बीजेपी एमएलए संगीत सोम ने कहा था, "कुछ लोगों को दर्द हुआ जब ताजमहल का नाम ऐतिहासिक स्थलों में से निकाल दिया गया। ये कैसा इतिहास, किस काम का इतिहास जिसमें अपने पिता को ही कैद कर डाला था।"

 

क्या है विवाद?

हाल ही में यूपी की पयर्टन मंत्रालय से जारी बुकलेट में कुशीनगर, गोरखनाथ मंदिर जैसी कई स्थानों को शामिल किया गया, लेकिन ताजमहल का जिक्र नहीं किया गया। इस पर वि‍वाद शुरू हो गया।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll