Neha Kakkar Reveald Her Emotional Connection with Indian Idol

दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।

 

सपा के पूर्व मंत्री व कद्दावर नेता आजम खान की मुश्किलें कम होने के बजाय और बढ़ सकती हैं। शासन ने रामपुर के मौलाना जौहर अली शोध संस्थान व जौहर अली ट्रस्ट की जांच विशेष अनुसंधान दल (एसआइटी) को सौंप दी है। एसआइटी संस्थान व ट्रस्ट के पदाधिकारियों के बारे में जानकारी करने के साथ ही अन्य बिंदुओं पर जांच करेगी। जांच एजेंसी ने इस बाबत डीएम रामपुर को पत्र लिखकर सूचनाएं मांगी हैं।

करोड़ों की सरकारी जमीन लीज पर

उल्लेखनीय है कि सपा शासनकाल में अल्पसंख्यक कल्याण एवं वक्फ विभाग ने रामपुर में मौलाना जौहर अली शोध संस्थान का निर्माण कराया था। शोध संस्थान जौहर विश्वविद्यालय से संबद्ध किया गया था। शोध संस्थान के निर्माण में सिंचाई विभाग, पीडब्ल्यूडी सहित अन्य विभागों की भी भूमिका थी। बाद में शोध संस्थान की करोड़ों रुपये की सरकारी जमीन व भवन को निजी संस्था मौलाना जौहर अली ट्रस्ट को लीज पर दे दिया गया था।

आरोप है कि संपत्ति महज 100 रुपये वार्षिक लीज पर दी गई थी। संस्थान में अनियमितता व उसकी संपत्ति को निजी संस्थान को लीज पर दिए जाने की कई शिकायतें की गई थीं। बताया गया कि राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) अल्पसंख्यक कल्याण व सिंचाई बलदेव ओलख ने भी शासन से पूरे मामले की जांच कराए जाने की सिफारिश की थी।

आजम पर एसआइटी जांच का घेरा

सामाजिक कार्यकर्ता नूतन ठाकुर ने इस मामले को लेकर हाईकोर्ट में जनहित याचिका भी दाखिल की थी। एसआइटी अब शोध संस्थान व ट्रस्ट से जुड़े दस्तावेज तलाश रही है। डीएम रामपुर से संबंधित विभागों से जुड़े दस्तावेज भी उपलब्ध कराए जाने को कहा गया है। उल्लेखनीय है कि इससे पहले जल निगम भर्ती घोटाले के मामले में एसआइटी जांच का घेरा पूर्व मंत्री आजम खान पर कसा था।

शासन की अनुमति पर अप्रैल में जलनिगम भर्ती घोटाले में सपा सरकार के पूर्व मंत्री आजम खां सहित अन्य के खिलाफ धोखाधड़ी व भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम सहित अन्य धाराओं में एफआइआर दर्ज की गई है।

आजम के खिलाफ तहरीर

सपा विधायक आजम खान और उनके बड़े बेटे अदीब के खिलाफ पूर्व मंत्री नवेद मियां के बेटे नवाबजादा हैदर अली खां उर्फ हमजा मियां ने तहरीर दी है। रामपुर एसपी को दी तहरीर में सपा नेता के बेटे पर फेसबुक पर आपत्तिजनक पोस्ट करने का आरोप लगाया है। कहा है कि यह पोस्ट रामपुर लोकसभा क्षेत्र से पांच बार सांसद रह चुके नवाब जुल्फिकार अली खां उर्फ मिक्की मियां को लेकर की गई है।

इसमें सपा नेता के बेटे ने सड़क हादसे में हुई पूर्व सांसद की मौत को रहस्यमय बताया है। पोस्ट में कहा है कि उनका एक्सीडेंट कैसे हुआ? यह नवाब खानदान को नहीं पता है।

उन्होंने तहरीर में लिखा है कि पोस्ट से जाहिर होता है कि वह सिर्फ हादसा नहीं था। पूर्व सांसद की मौत में सपा नेता का हाथ था। इसकी जानकारी उनके बेटे को भी है। इस पोस्ट से वह बेहद आहत हुए हैं। इसलिए पिता-पुत्र के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाए। उनसे कड़ी पूछताछ कर पूर्व सांसद की मौत का पर्दाफाश किया जाए।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll