Neha Kakkar Crying gets Emotional in Memories of Ex Boyfriend Himansh Kohli

दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।

 

उत्‍तर प्रदेश में जहरीली शराब के सेवन से हुई मौतों को लेकर शासन ने कड़ा रुख अख्तियार कर लिया है। इन दोनों घटनाओं की जांच के लिए विशेष अनुसंधान दल (एसआइटी) गठित कर दी गई है। साथ ही सहारनपुर और कुशीनगर के दो क्षेत्राधिकारियों को निलंबित कर दिया गया है।

प्रमुख सचिव गृह अरविंद कुमार ने बताया कि जहरीली शराब से मौतों की जांच के लिए एसआइटी का गठन किया गया है। एसआइटी के अध्यक्ष एडीजी रेलवे संजय सिंघल होंगे। जबकि सहारनपुर के कमिश्नर चंद्र प्रकाश त्रिपाठी, आइजी सहारनपुर शरद सचान, गोरखपुर के कमिश्नर अमित गुप्ता और आइजी जय नारायण सिंह सदस्य होंगे। एसआइटी को दस दिनों के अंदर अपनी रिपोर्ट देनी होगी।

निलंबित अधिकारी लखनऊ में डीजीपी मुख्यालय से रहेंगे अटैच

उन्होंने बताया कि 6 से 10 फरवरी के बीच जहरीली शराब से हुई मौतों की जांच यह एसआइटी करेगी। इस दौरान एसआइटी मृतकों के परिजनों के भी बयान दर्ज करेगी। अरविंद कुमार ने बताया कि इस मामले में सहारनपुर में सीओ देवबंद सिद्घार्थ और कुशीनगर में तमकुही राज के क्षेत्राधिकारी रामकृष्ण तिवारी को निलंबित कर दिया गया है। इन अधिकारियों को अपनी जिम्मेदारी का सही ढंग से निर्वहन न करने, लापरवाही, उदासीनता और शिथिल पर्यवेक्षण का दोषी पाया गया है। निलंबन के दौरान यह दोनों ही अधिकारी लखनऊ में डीजीपी मुख्यालय से अटैच रहेंगे।

अवैध शराब को लेकर अभियान

अवैध शराब को 8 फरवरी से अबतक 882 मुकदमे दर्ज किए गए हैं। अब तक की गई कार्रवाई में 45194 लीटर अवैध शराब बरामद की गई है। साथ ही 234005 लीटर अवैध लहन बरामद किया गया है। इन मामलों में कुल 348 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पहले दिन 297 केस दर्ज किए गए थे, जिसमें 181 लोगों को गिरफ्तार किया गया था।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement