Actress katrina Kaif and Mouni Roy Visited Durga Puja Pandal

दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।
 

निकाय चुनाव में भाजपा की सफलता के बाद विपक्षी दलों के निशाने पर भले ही ईवीएम हो, लेकिन समाजवादी पार्टी के नेता शिवपाल सिंह यादव की इसको लेकर राय जुदा है। शिवपाल सिंह यादव मानते हैं कि ईवीएम में कहीं भी कोई गड़बड़ी नहीं है। अभी तक तो इसका कोई सुबूत भी नहीं मिला है। शिवपाल ने ईवीएम से छेड़छाड़ को खारिज किया। 

 

 

शिवपाल यादव समाजवादी पार्टी के गढ़ माने जाने वाले मैनपुरी में साफ कहा कि ईवीएम में कोई गड़बड़ी नहीं है। अगर इसमें कोई गड़बड़ी होती तो तमाम मामले सामने आ जाते। अभी तक तो एक भी ऐसा मामला सामने नहीं आया है। उन्होंने साफ कहा कि अगर ईवीएम में गड़बड़ी होती तो मैं भी विधानसभा चुनाव नहीं जीतता। शिवपाल यादव का यह कथन पार्टी के अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के इन आरोपों का खंडन करता है कि नगर निकाय चुनावों में भाजपा ने मेयर पदों पर भारी जीत ईवीएम में गड़बड़ी किये जाने से जीती।

 

उन्होंने ईवीएम में गड़बड़ी के पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के बयान पर कहा कि मैंने तो ईवीएम से हुए चुनाव में जीता हूं। मेरे पास ईवीएम को लेकर कोई सुबूत नहीं है। कोई सुबूत होगा, तो इस पर बोलूंगा। शिवपाल यादव ने कहा कि ईवीएम में गड़बड़ी के दावों का कोई पुख्ता सबूत नहीं है। शिवपाल ने कहा कि उन्हें नहीं लगता कि ईवीएम से छेड़छाड़ हुई। उन्होंने जोड़ा कि विधानसभा चुनाव उन्होंने भी लड़ा लेकिन वे तो जीते हैं। उनके सारे समर्थक भी निकाय चुनाव में जीते हैं।

 

 

शिवपाल सिंह यादव मैनपुरी के करहल में एक विवाह समारोह में शामिल होने पहुंचे थे। समाजवादी पार्टी की करारी हार पर उन्‍होंने कहा कि- हमें जिम्मेदारी मिली होती तो चुनाव में विजय होती। उन्होंने करहल में सपा के दूसरा प्रत्याशी घोषित करने और समर्थन दूसरे प्रत्याशी को देने के सवाल पर कहा कि मुझे इसकी जानकारी नहीं है। शिवपाल ने कहा कि हमने जिनका समर्थन किया था, वह जीत गए। किसी का नाम लिए बगैर कहा कि उन्होंने जो प्रत्याशी उतारे, उसकी जिम्मेदारी उनकी ही थी। उन सभी को जीत मिली।

उन्होंने यह भी कहा कि निकाय चुनावों में उन्होंने जितने भी प्रत्याशियों का समर्थन किया वे सभी विजयी रहे। उनका कहना था कि निकाय चुनावों में पराजय की जिम्मेवारी पूरी पार्टी को लेनी होगी।

 

उन्होंने एक चतुर राजनेता की तरह अपनी बात से यह संकेत तो दे ही दिया कि पार्टी नेतृत्व प्रत्याशियों को सही दिशा और समर्थन नहीं दे पाया। पार्टी के भीतर कुछ लोग पहले ही यह कह रहे हैं कि जमीनी स्तर पर पार्टी कार्यकर्ताओं को बांधने का जो काम शिवपाल सिंह यादव करते थे वह नहीं हो पाया।

 

 

उन्होंने सपा की करारी हार पर पार्टी नेताओं को जिम्मेदार ठहराया। कहा कि जिन लोगों ने प्रत्याशी उतारे उन्हें हार की जिम्मेदारी लेनी चाहिए। अखिलेश के नेतृत्व में विधानसभा के बाद निकाय चुनाव में भी मिली हार के सवाल को उन्होंने टाल दिया और कहा कि इस सवाल का जवाब अखिलेश से ही पूछा जाए। शिवपाल ने ये भी कहा कि निकाय चुनाव में उन्हें कोई जिम्मेदारी नहीं दी गई। अगर उन्हें जिम्मेदारी दी गई होती तो जीत होती। शिवपाल ने कहा 2019 के लोकसभा चुनाव अभी दूर हैं। निकाय चुनाव सेमीफाइनल नहीं हैं।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement