Ali Asgar Faced Molestation in The Getup of Dadi

दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।

 

उत्‍तर प्रदेश में भाजपा (भारतीय जनता पार्टी) को बड़ा झटका लगा है। बहराइच से सांसद सावित्री बाई फूले ने पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। फुले ने इस्तीफा देने के साथ ही बीजेपी पर एक बार फिर हमला बोला है। उन्होंने आरोप लगाया कि बीजेपी समाज में बंटवारे की साजिश कर रही है।

उन्‍होंने कहा कि भाजपा देश को मनुस्मृति से चलाना चाहती है। वह दलित, पिछड़ा व मुस्लिम विरोधी है और आरक्षण खत्म करने की साजिश रच रही है। सावित्री बाई ने भाजपा पर देश के संविधान को बदलने की कोशिश करने का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि न तो संविधान लागू किया जा रहा है और न ही आरक्षण। केंद्र सरकार ने मेरी मांगों को ठुकराया है क्योंकि सरकार दलित विरोधी है।

सांसद रहेंगी, सिर्फ पार्टी से इस्‍तीफा दिया

सावित्री बाई फुले ने कहा कि भाजपा बहुजनों के हित में कोई कार्य नहीं कर रही है। यहां तक कि समतामूलक समाज की स्थापना करने वाले बाबा साहेब की प्रतिमा तोड़ने वालों के खिलाफ भी कोई कार्रवाई नहीं की गई। उन्होंने स्पष्ट किया कि वह कार्यकाल पूरा होने तक सांसद रहेंगी, सिर्फ पार्टी से इस्तीफा दिया है।

हनुमान जी को दलित बताए जाने पर उन्होंने कहा कि हनुमान जी दलित थे लेकिन मनुवादियों के खिलाफ थे। तभी राम ने उन्हें बंदर बना दिया। वहीं, राम मंदिर पर उन्होंने कहा कि दलितों को मंदिर नहीं संविधान चाहिए। देश संविधान से चलेगा। मनुस्मृति से नहीं। 

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement