Box Office Collection of Raazi

दि राइजिंग न्‍यूज

इलाहाबाद।

 

प्रदेश में सत्ता आई योगी सरकार ने पूर्व सपा सरकार की एक और योजना पर ताला डालने की तैयारी योगी सरकार ने कर ली है। अब नंबर कामधेनु योजना है। इस योजना में वर्ष 2017-18 के लिए कोई लक्ष्य न देने से माना जा रहा है कि इस योजना को बंद कर दिया गया है।

 

 

अखिलेश सरकार ने पशुपालन को बढ़ावा देने के लिए कामधेनु योजना चलाई थी। इस साल इस योजना में कोई लक्ष्य न दिए जाने से पशुपालन विभाग कोई आवेदन स्वीकार नहीं कर रहा है। जिले में सपा सरकार के दौरान कुल 42 डेयरियां स्थापित की गई थीं। इस ब्याज अनुदानित योजना में प्रदेश भर में कामधेनु योजना में एक करोड़ 20 लाख, मिनी कामधेनु में 51 लाख और माइक्रो कामधेनु योजना में 27 लाख रुपये की धनराशि मुहैया कराई गई थी।

 

 

इलाहाबाद में वर्तमान में सभी 42 डेयरियों में छह डेयरियां ठीक ढंग से नहीं चल पा रही हैं। इस साल पशुपालकों ने उम्मीद रखी थी कि शायद योजना का लाभ उन्हें मिले, लेकिन, जिले को कोई लक्ष्य न मिलने से उनकी मंशा अधूरी रह गई है। योजना के बंद होने को लेकर अलग-अलग तर्क दिए जा रहे हैं।

 

 

इलाहाबद के मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ सीएस शर्मा कहते हैं, इस योजना में पूरे प्रदेश में किसी जिले को वर्ष 2017-18 के लिए कोई लक्ष्य नहीं दिया गया। लक्ष्य न मिलने से माना जा रहा है कि योजना बंद हो गई है। जो डेयरियां पिछले समय से चल रही हैं, उनमें वसूली कर पैसा जमा कराया जा रहा है।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll