Actress Alia Bhatt Reaction on Dating Ranbir Kapoor

दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।

 

एआइएमपीएलबी (ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड) से निकाले गए सलमान हुसैन नदवी ने आज “मानवता कल्याण बोर्ड” की स्थापना की। लखनऊ में आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में नदवी ने इस बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि देश में ऐसा एक भी संगठन नहीं है जिसमें सभी धर्म के लोग शामिल हों और इसीलिए उन्होंने मानवता कल्याण बोर्ड की नींव रखी है।

नदवी ने आजादी के बाद देश में हुए दंगों का जिक्र करते हुए कहा कि वर्तमान में जरूरत इस बात की है कि लोगों को मानवता की सीख दी जाए। सलमान नदवी ने कहा कि उनके बोर्ड का ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड से कोई मतलब नहीं है। उन्होंने पर्सनल लॉ बोर्ड को सिर्फ मियां ​बीवी के मामले देखने वाला करार दिया।

मानवता कल्याण बोर्ड पर बात करते हुए नदवी ने बताया कि पूर्व मुख्य जज को इस बोर्ड का अध्यक्ष बनाया जाएगा। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि इस बोर्ड में हर धर्म के लोगों को न सिर्फ शामिल किया जाएगा, बल्कि अहम जिम्मेदारी भी दी जाएगी। राम मंदिर विवाद पर सलमान नदवी ने अयोध्या में मस्जिद बनाने की वकालत की, लेकिन उन्होंने कहा कि मस्जिद का नाम बाबर के नाम से हो यह जरूरी नहीं। नदवी ने इस बात पर जोर दिया कि नौजवानों को मज़हब की जानकारी होना बहुत अहम है।

एआइएमपीएलबी ने निकाला था नदवी को

एआइएमपीएलबी ने रविवार (11 फरवरी) को ऐलान किया था कि मौलाना सलमान हुसैन नदवी अब उसके सदस्य नहीं हैं। नदवी ने बाबरी मस्जिद मामले में बोर्ड से अलग रुख अपनाया था। बोर्ड ने हैदराबाद में अपनी तीन दिवसीय बैठक के अंतिम दिन नदवी के बोर्ड से अलग होने पर मुहर लगाई थी।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement