Home Up News RSS Leader Murder Weapon Smuggler Arrested From Delhi Border

हार्दिक पटेल: गुजरात के किसान और युवा परेशान

आज शाम कांग्रेस का केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण राहुल के अध्यक्ष निर्वाचित होने का ऐलान करेगा

कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव: सिर्फ राहुल ने ही किया था नामांकन, सभी 89 सेट सही पाए गए थे

वरिष्ठ वकील राजीव धवन ने सुप्रीम कोर्ट की प्रैक्टिस छोड़ी

CJI की सख्त टिप्पणी से नाराज थे वकील राजीव धवन

RSS नेता की हत्या के लिए हथियार सप्लाई करने वाला अरेस्‍ट

UP | 07-Dec-2017 22:55:09 | Posted by - Admin
  • दिल्ली बॉर्डर से किया गया गिरफ्तार
   
RSS Leader Murder Weapon Smuggler Arrested from Delhi Border

दि राइजिंग न्‍यूज

गाजियाबाद।

 

पंजाब के लुधियाना में आरएसएस नेता की हत्या के मामले में गुरुवार को गाजियाबाद पुलिस ने एक अहम शख्स को गिरफ्तार किया है। पकड़ा गया शख्स हथियारों का तस्कर है और उसी ने संघ नेता की हत्या में इस्तेमाल किए गए हथियार सप्लाई किए थे।

 

 

पकड़े गए आरोपी का नाम मलूक है। गाजियाबाद पुलिस ने आज मलूक को दिल्ली बॉर्डर से गिरफ्तार कर लिया। गाजियाबाद निवासी मलूक को पहले भी गिरफ्तार करने की कोशिश की गई थी। बीते तीन दिसंबर को एनआइए, यूपी एटीएस और यूपी पुलिस ने मलूक को पकड़ने के लिए दबिश दी थी तो पथराव और गोलीबारी हुई हुई थी, जिसमें यूपी पुलिस का एक कांस्टेबल घायल हो गया था।

 

दरअसल, मलूक को पकड़ने के लिए तीन दिसम्बर को एनआईए और यूपी पुलिस ने छापेमारी की थी। जैसे ही इसकी सूचना स्थानीय लोगों को मिली तो लोगों ने एनआईए और पुलिस की टीम पर हमला बोल दिया था। इस दौरान एक सिपाही को गोली लगी थी, जिसे आनन-फानन में मेरठ के अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

 

हमले के दौरान स्थानीय लोगों ने एनआईए की टीम और पुलिस की गाड़ियों में भी जमकर तोड़फोड़ की थी। इसी बात का फायदा उठाकर मलूक पुलिस के कब्जे से भागने में कामयाब हो गया था। इसके बाद एनआईए की टीम और करीब 16 थानों की पुलिस फोर्स ने उस इलाके में मलूक को तलाश करने के लिए करीब 10 घंटे का कॉन्बिंग ऑपरेशन चलाया था, लेकिन तब तक मलूक वहां से फरार हो चुका था।

 

 

तभी से यूपी पुलिस और एनआईए की टीम उसे तलाश कर रही थीं। गाजियाबाद के एसएसपी हरि नारायण सिंह ने बताया कि काफी तलाश करने के बाद भोजपुर थाना पुलिस ने मलूक को गाजियाबाद और दिल्ली के सीमापुरी बॉर्डर से धरदबोचा।

 

एनआईए की टीम और यूपी पुलिस को जानकारी मिली है कि मलूक कई आपराधिक संगठनों को हथियार मुहैया कराता था। अब उससे एनआईए की टीम और गाजियाबाद पुलिस गहन पूछताछ कर रही है।

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555








TraffBoost.NET

Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll





Flicker News

Most read news

 


Most read news


Most read news




sex education news