Sapna Choudhary New Song Vidaai Viral On Youtube

दि राइजिंग न्‍यूज  

अयोध्या।

 

राम मंदिर निर्माण के लिए 28 साल बाद फिर अयोध्या से “श्रीराम राज्य रथ यात्रा” निकाली गई। यात्रा को कारसेवक पुरम से विश्व हिंदू परिषद के अंतरराष्ट्रीय महामंत्री चंपत राय ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस दौरान बड़ी संख्या में साधु-संत मौजूद रहे। यह रथ छह राज्यों से 41 दिन में करीब छह हजार किलो मीटर का रास्ता तय करेगा।

यात्रा का समापन केरल के तिरुवनंतपुरम होगा। इसका जिम्मा विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) और महाराष्ट्र की संस्था श्री रामदास मिशन यूनिवर्सल सोसाइटी संभाल रही है। बता दें कि 1990 में बीजेपी नेता लालकृष्ण आडवाणी ने सोमनाथ से अयोध्या के लिए रथ यात्रा निकाली थी।

 

“राम राज्य रथयात्रा” में एक रथ होगा। एक टाटा मिनी ट्रक को रथ का स्वरूप दिया गया है। यह यात्रा भाजपा शासित उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र के अलावा कांग्रेस शासित कर्नाटक से गुजरेगी। बता दें कि कर्नाटक इस साल विधानसभा चुनाव भी होने हैं।

यात्रा की मुख्य आयोजक श्री रामदास मिशन यूनिवर्सल सोसाइटी के महर्षि शांता बंधी ने कहा, चुनाव करीब आ रहे हैं तो इसमें हमारी क्या गलती? हम भाजपा के लिए अभियान चलाने के लिए इस यात्रा का आयोजन नहीं कर रहे हैं।

छह हजार किलोमीटर की यात्रा

“राम राज्य रथयात्रा” अपनी छह हजार किलोमीटर की यात्रा के दौरान एक करोड़ हिंदुओं में अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर जनजागरण करेगी। श्रीराम दास मिशन यूनिवर्सल सोसाइटी के अध्यक्ष स्वामी कृष्णानंद सरस्वती ने बताया कि यात्रा का असली मकसद अयोध्या में भव्य राम मंदिर के लिए जनजागरण करना है। यह यात्रा का पहला चरण है जो अयोध्या से रामेश्वरम तक चलेगा।

25 लाख रुपए में तैयार हुआ रथ

बताया जा रहा है 25 लाख रुपए खर्च कर एक विशेष रथ तैयार किया गया है। आयोजकों का कहना है कि रथ की जो आकृति प्रस्तावित राम मंदिर की तरह है।

बता दें कि अयोध्या मामले की सुनवाई सुप्रीम कोर्ट में चल रही है।

 

 

2019 लोकसभा चुनाव पर फोकस

माना यह भी जा रहा है कि ये रथयात्रा 2019 के लोकसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए आयोजित हो रही है। यात्रा में आरएसएस और उसके सहयोगी संगठन भी शामिल होंगे।

 

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Public Poll