Akshay Kumar and Priyadarshan Donated to Save Flood Affected People in Kerala

दि राइजिंग न्‍यूज

आगरा।

 

आज राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद डॉ. भीमराव अंबेडकर विवि के 83वें दीक्षांत समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में शामिल होने आगरा पहुंचे। यहां उन्‍होंने अपने संबोधन में कहा कि- “जब बेटियां आगे बढ़ती हैं तो देश भी आगे बढ़ता है।”

कार्यक्रम की शुरुआत में यूनिवर्सिटी के कुलपति अरविंद कुमार ने बुके शाल और सम्मान पत्र देकर सभी अतिथियों का सम्मान किया। इसके बाद राज्यपाल राम नाइक ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और रक्षा विज्ञानी डा. टेसी थॉमस को डीएससी की मानद उपाधि से सम्मानित किया।

 

 

राष्ट्रपति ने कहा, मेरे लिए सारे प्रदेश बराबर, लेकिन अपनी मातृभूमि वाले प्रदेश और अपने विवि के कार्यक्रम में आकर एक अलग और सुखद अनुभूति हो रही है। मैं भी इसी विवि का छात्र रहा हूं। यहीं से बीकॉम की डिग्री हासिल की है। यह देश का इकलौता ऐसा विवि है, जिसने दो राष्ट्रपति, दो प्रधानमंत्री, राज्यपाल और मुख्यमंत्री सहित ऐसी हस्तियों को शिक्षा दी है, जो देश के लिए काम कर रहे हैं।

 

 

राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद की अगवानी के लिए राज्यपाल रामनाईक सोमवार रात को ही आगरा पहुंच गए थे। दीक्षा समारोह में एनएसए अजीत डोभाल और मिसाइल वुमेन के नाम से विख्यात डीआरडीओ की वैज्ञानिक टेसी थॉमस को मानद उपाधि प्रदान की गई। राष्ट्रपति का विमान सुबह 10.30 बजे खेरिया एयरपोर्ट पर उतरा। 

यहां पर राज्यपाल रामनाईक ने उनकी अगवानी की। इसके बाद उनका काफिला सीधे समारोह स्थल खंदारी परिसर पहुंचेगा, जहां कुलपति डॉ अरविंद दीक्षित ने उनका स्वागत किया।

 

 

वहीं राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल ने कहा, मैंने इस विवि में पांच साल पढ़ाई की है। मैंने यहां शिक्षकों से और साथियों से जो सीखा, उसका मेरे जीवन में बड़ा योगदान है। आज भारत नई ऊंचाइयों पर जा रहा है। भारत की जनशक्ति को वैश्विक स्पर्धा के योग्य बनाना होगा। हम सभी को इसके लिए काम करना होगा। डोभाल ने युवा छात्रों से की अपील, देश के लिए काम करें।

 

 

राष्ट्रपति और एनएसए के आने के चलते विवि के खंदारी कैंपस में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। सुरक्षा एजेंसियों ने पूरे परिसर को अपने कब्जे में ले लिया है। किसी भी बाहरी व्यक्ति को अंदर प्रवेश नहीं दिया जा रहा है। खुफिया एजेंसियां भी सक्रिय हैं। उन्होंने राष्ट्रपति के रूट से लेकर मंच पर उनके बैठने तक की व्यवस्था को परखा।

 

बता दें सुबह से ही हल्की बूंदाबांदी के बीच मौसम बदला नजर आ रहा था। मौसम को देखकर अंदाजा लगाया जा रहा था कि समारोह में आने वाले गेस्ट के समय में देरी हो सकती है, लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ। प्रेसिडेंट के साथ सभी गेस्ट तय वक्त पर पहुंचे। इस समारोह में कुल 114 मेडल बांटे गए। जिसमें 100 मेडल गोल्ड और 14 मेडल सिल्वर थे।

प्रोग्राम में यूनिवर्सिटी की तरफ से साड़ी और धोती-कुर्ता ड्रेस कोड रखा गया था। इसमें मेडल पाने वाले स्टूडेंट और यूनिवर्सिटी की कार्यकारिणी के सदस्य के लिए कंपल्सरी था।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Public Poll