Home Up News Preparation Of BJP For Lok Sabha Election 2019

चेन्नई: पत्रकारों ने बीजेपी कार्यालय के बाहर किया विरोध प्रदर्शन

मुंबई: ब्रीच कैंडी अस्पताल के पास एक दुकान में लगी आग

कर्नाटक के गृहमंत्री रामालिंगा रेड्डी ने किया नामांकन दाखिल

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने हथियारों के साथ 3 लोगों को किया गिरफ्तार

11.71 अंक गिरकर 34415 पर बंद हुआ सेंसेक्स, निफ्टी 10564 पर बंद

पाठशाला के रास्ते चुनावी नैया पार लगाने की मशक्कत

UP | 13-Jan-2018 11:15:14 | Posted by - Admin
  • बच्चों के जरिए अभिभावकों को साधने की तैयारी

  • भाजपा सांसद, विधायक और पार्षद स्कूलों को लेंगे गोद

   
Preparation of BJP for Lok Sabha Election 2019

दि राइजिंग न्‍यूज

संजय शुक्ल

लखनऊ।

 

मिशन 2019 में विरोधियों को परास्त करने तथा अपना जनाधार बढ़ाने के लिए भारतीय जनता पार्टी सरकारी स्कूलों के बच्चों के जरिए उनके परिवर तक पहुंचेगी। इसके लिए कार्ययोजना को अंतिम रूप भी दिया जा रहा है और कानपुर से इसकी शुरुआत भी हो गई है। इसे पूरे प्रदेश में इसे शुरू किया जाएगा। पार्टी नेताओं का मानना है कि इससे स्कूलों में पढ़ाई से लेकर सुविधाएं बेहतर होंगी और इसका सीधा लाभ बच्चों को मिलेगा। हालांकि विपक्ष इसे केवल हवा हवाई दावा करार दे रहा है।

मिशन 2019 के तहत लोकसभा चुनावों में विरोधियों को पटखनी देने के लिए भारतीय जनता पार्टी ने यह रणनीति तय की है। इसका मकसद युवाओं और छात्रों को अपने पक्ष करने के साथ ही उनके अभिभावकों तक पहुंचना और उन्हें पार्टी के काम काज व योजनाओं से अवगत कराना है। इससे नए लोग पार्टी से जुड़ेंगे और उसका सीधा फायदा 2019 में होने वाले लोकसभा चुनावों में मिलेगा। योजना के तहत ही प्रदेश के मंत्री सतीश महाना ने कानपुर में सरकारी स्कूलों को गोद ले लिया है। खास बात यह है कि सरकारी स्कूलों को गोद लेने वालों में मंत्री, सांसद, विधायक तथा पार्षद होंगे। ये सभी लोग स्कूल के प्रबंधन–टीचरों से भी नियमित संवाद करेंगे। शिक्षण कार्य में आने वाली बाधाओं को दूर करेंगे।

दरअसल, पिछले दिनों गुजरात विधानसभा चुनाव में युवा भाजपा के खिलाफ सक्रिय थे। कई नए चेहरों ने भाजपा के तमाम मुसीबतें पैदा कर दी थीं। भाजपा के बड़े नेता भी इस बात को स्वीकार करते हैं और अब उसकी काट के तौर सरकारी स्कूलों के जरिए अपना वोट प्रतिशत बढ़ाने की कवायद में जुट गए हैं। हालांकि विपक्षी पार्टियां इसे भाजपा का खोखला दावा भर मान रहे हैं। विपक्षी पार्टियों का कहना है कि पूरे देश में भाजपा से सबसे ज्यादा नाराज युवा है। वजह है कि सत्तारूढ़ भाजपा से सबसे ज्यादा धोखा युवाओं से किया है। युवा बेरोजगार हैं और उन्हें काम नहीं मिल रहा है। चुनावों में युवाओं को रोजगार का सपना दिखाने वाली भाजपा पूरी तरह से विफल रहीं। अब इसका भेद भी खुल गया है और इससे निपटने के तौर पर ही सरकारी स्कूलों के जरिए वोट बढ़ाने की कवायद कर रही है लेकिन इसमें उसे सफलता मिलने वाली नहीं है।

 

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555








TraffBoost.NET

Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll

Merchants-Views-on-Yogi-Government-One-Year-Completion




Flicker News

Most read news

 


Most read news


Most read news