Home Up News No Chances To Resolve The Dispute

सेनाध्यक्ष जनरल बिपिन रावत श्रीनगर पहुंचे, हालात की समीक्षा की

पंजाब: मनसा में सड़क दुर्घटना में 6 लोग मारे गए

अयोध्या में सरयू तट पर आरती में शामिल होंगे सीएम योगी

अयोध्या के रामकथा पार्क पहुंचे यूपी सीएम योगी

सैनिकों को अब सैटेलाइट फोन पर प्रति कॉल 1 रुपया ही चार्ज देना होगा

Trending :   #Hot_Photoshot   #Sports   #Politics   #Hollywood   #Bollywood
   

सपा की बातचीत अभी तक बेनतीजा

UP | 7-Jan-2017 08:05:30 PM

no chances to resolve the dispute

दि राइजिंग न्‍यूज ब्‍यूरो

07 जनवरी, लखनऊ।

समाजवादी पार्टी आज की तारीख में किसकी है, मुलायम की या अखिलेश की यह भले न तय हो सका हो पर इस पार्टी के कांग्रेस के साथ गठबंधन हो जाने के अब काफी आसार हैं। इस बीच शनिवार को भी समाजवादी पार्टी में आंतरिक कलह को दूर करने के लिए सुलह की आखिरी कोशिशें जारी रहीं। शनिवार को अखिलेश यादव जहां अपने मुख्‍य सलाहकार आलोक रंजन सहित अन्‍य अधिकारियो संग मंथन करते रहे वहीं दूसरी  मुलायम सिंह यादव के आवास पर मो. आजम खां और शिवपाल यादव का आनाजाना लगा रहा। यानि पार्टी में जारी घमासान के बीच बैठकों और मुलाकातों का दौर जारी है। यूपी सरकार में कैबिनेट मंत्री आजम खान ने आज एक बार फिर मुलायम सिंह यादव से मुलाकात कर सुलह की कोशिशें जारी रखीं। सूत्रों के मुताबिक अगर अखिलेश-मुलायम के बीच किसी समझौते पर बात बनी तो मुलायम सिंह मीडिया को आमंत्रित कर कोई बड़ा ऐलान भी कर सकते हैं।


ताजा रार जहां तक अखिलेश यादव के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष पद पर काबिज रहने की है तो टीम अखिलेश का दावा है कि अब अखिलेश ही राष्ट्रीय अध्यक्ष रहेंगे। अखिलेश समर्थकों के मुताबिक पार्टी राष्ट्रीय अधिवेशन के जरिए अखिलेश यादव को राष्ट्रीय अध्यक्ष चुना गया है। ऐसे में पार्टी के 90फीसदी लोगों ने उन्हें पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष चुना है अब वह इस जिम्मेदारी से पीछे नहीं हट सकते। अमर सिंह के शुक्रवार के बयान का संज्ञान लेते हुए अखिलेश गुट ने अमर सिंह पर निशाना साधा है। समर्थकों का कहना है कि परिवार के निजी रिश्तों का हवाला देकर अखिलेश यादव को इमोशनल ब्लैक मेल किया जा रहा है।


अमर सिंह ने शुक्रवार को अपने बयान में कहा था कि अखिलेश का पालन-पोषण चाचा शिवापाल के घर में हुआ है और वही उनके ज्यादा करीब है। साथ ही अमर सिंह ने मुलायम सिंह पर कहा कि इस पूरे विवाद में नेता जी बिल्कुल अकेले पड़ गए हैं।


इस बीच खबर है कि अखिलेश यादव चुनाव में उतरने के लिए पूरी तरह तैयार हैं। सूत्रों की माने तो अखिलेश ने पार्टी का घोषणापत्र तैयार कर लिया है। अगली 10 जनवरी के बाद कभी भी वह अपना घोषणापत्र जारी कर सकते है। साथ ही समाजवादी पार्टी और कांग्रेस का गठबंधन लगभग तय माना जा रहा है। 10 जनवरी को अखिलेश यादव और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की मुलाकात हो सकती है. इस मुलाकात में गठबंधन पर आखिरी मुहर लग सकती है और सीटों के बंटवारे पर भी समझौता हो सकता है।

 

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555


संबंधित खबरें



HTML Comment Box is loading comments...

Content is loading...





What-Should-our-Attitude-be-Towards-China


Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll


Photo Gallery
अब कब आओगे मंत्री जी । फोटो- अभय वर्मा

Flicker News



Most read news

 


Most read news


Most read news


sex education news



rising news video

खबर आपके शहर की