Home Up News Mulayam And Akhilesh Of Different Tracks For President Election

चित्रकूट में डकैत बबली कोल के साथ मुठभेड़ में एक सब इंस्पेक्टर शहीद

तमिलनाडु: NEET में सुधार को लेकर चेन्नई में डीएमके का प्रदर्शन

सुप्रीम कोर्ट का फैसला- निजता है मौलिक अधिकार

निजता पर SC के फैसले को कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने बताया आजादी की बड़ी जीत

पंजाब रोडवेज ने हरियाणा जाने वाली अपनी सभी बसों के रूट रद्द किए

Trending :   #Hot_Photoshot   #Sports   #Politics   #Hollywood   #Bollywood

राष्‍ट्रपति चुनाव के मत पर फिर आमने-सामने आए पिता-पुत्र

UP | 18-Jun-2017 02:58:30 PM
     
  
  rising news official whatsapp number

mulayam and akhilesh of different tracks for president election

दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।

 

समाजवादी परिवार में यूपी चुनाव से पड़ी दरार अभी तक खत्‍म होने का नाम तक नहीं ले रही है। प्रदेश की सत्ता से बेदखल होने वाली समाजवादी पार्टी में फिलहाल तो कुछ ठीक होने की स्थिति में नहीं है। पार्टी संरक्षक मुलायम सिंह यादव तथा राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव अब देश के राष्ट्रपति के चुनाव को लेकर एकमत नहीं दिख रहे हैं। मुलायम जहां अब खुलकर एनडीए के पक्ष में हैं, वहीं अखिलेश की राय जुदा है।

मुलायम सिंह यादव तथा अखिलेश यादव एक बार फिर आमने-सामने आ गए हैं। अगले राष्ट्रपति चुनने को लेकर चुनाव अगले महीने होने जा रहा है। इस बाबत तमाम दल अपने-अपने समीकरण बनाने में लगे हैं। अभी तक कहीं से भी किसी भी उम्मीदवार का नाम सामने नहीं आया है।


ऐसा माना जा रहा है सत्ता पर काबिज एनडीए 20 जून को राष्ट्रपति उम्मीदवार के नाम की घोषणा कर सकती है। यूपीए ने भी इसको लेकर काफी तेजी दिखाई है। यूपीए ने इसको लेकर अन्य विपक्षी दलों के साथ बैठक की है लेकिन किसी नाम पर सहमति नहीं बन पायी है।

राष्ट्रपति चुनाव को लेकर उत्तर प्रदेश में भी काफी गहमागहमी है। प्रदेश में सत्ता पर काबिज रही समाजवादी पार्टी भी इस चुनाव से अछूती नहीं रही है। पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने अखिलेश यादव को नजरअंदाज करते हुए कहा कि राष्ट्रपति चुनाव में समाजवादी पार्टी एनडीए को समर्थन देगी। इसके बाद मुलायम-अखिलेश आमने-सामने आते दिखाई दे रहे हैं।


अपनी राय के बाद मुलायम सिंह ने एनडीए के सामने शर्त रखी है कि उम्मीदवार कट्टर भगवा चेहरा न हो। इसके साथ ही सभी का समर्थन भी उस उम्मीदवार को प्राप्त होना चाहिए। दो दिन पूर्व ही मुलायम सिंह यादव ने केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू और गृहमंत्री राजनाथ सिंह से भी मुलाकात की थी। मुलायम सिंह यादव ने हाल ही में पार्टी के मामलों अखिलेश यादव के तौर-तरीकों पर भी आपत्ति जताई थी।


कांग्रेस की बढ़ेगी मुसीबत

मुलायम सिंह यादव के राष्ट्रपति के चुनाव में एनडीए उम्मीदवार के समर्थन की बात से कांग्रेस को झटका लग सकता है। अखिलेश यादव विपक्ष के समर्थन वाले उम्मीदवार को समर्थन दे सकते हैं। ऐसा होने की स्थिति में पिता-पुत्र के बीच टकराव फिर देखने को मिल सकता है।


यह भी पढ़ें

सवालों पर भड़के लालू, दे डाली गाली 

सलमान का जंग पर बड़ा बयान, पढ़िए क्‍या कहा

"नौकरी नहीं, दोषियों पर कार्रवाई चाहिए"

..तो मोदी के सामने झुक गए केजरीवाल!

झारखंड में अब एक रुपये में होगी रजिस्‍ट्री

राहुल को इतनी जल्‍दी नानी याद आ गईं

सुनिए नवाज़ शरीफ का जवाब..... 

ट्रम्प हुए 71 साल के,पद संभालते ही बन गए थे 



जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

संबंधित खबरें

HTML Comment Box is loading comments...

 


Content is loading...



What-Should-our-Attitude-be-Towards-China


Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll



Photo Gallery
धार्मिक आस्था- सर्प का दुग्धाभिषेक | फोटो- कुलदीप सिंह

Flicker News


Most read news

 



Most read news


Most read news


खबर आपके शहर की