Home Up News Minister Siddhartha Nath Singh Statement Over Web Journalism

मथुरा: कोसी कलां में ट्रक और बाइक की भिडंत से 3 लोगों की मौत

इराक में गायब भारतीयों के डीएनए सेम्पल जुटाए जाएंगे

पंजाब: संगरूर के पटियाला रोड पर कई वाहनों के आपस में टकराने से 3 लोगों की मौत

कर्नाटक: बीजेपी ने सीएम सिद्धरमैया पर 418 करोड़ के कोयला घोटाले का आरोप लगाया

अमेरिकी विदेश मंत्री टिलरसन 24 अक्टूबर को भारत दौरे पर आएंगे

Trending :   #Hot_Photoshot   #Sports   #Politics   #Hollywood   #Bollywood
   

"वेब जर्नलिज्म नहीं, बल्क‍ि सुपारी जर्नलिज्म है..."

UP | 09-Oct-2017 16:55:04
  • प्रेस कांफ्रेंस में मंत्री सिद्धार्थ सिंह ने किया मीडिया पर हमला
Minister Siddhartha Nath Singh Statement over Web Journalism

दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।

 

भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह के बेटे जय शाह द्वारा एक न्यूज पोर्टल पर मानहानि का मुकदमा करने के फैसले के बाद पार्टी के नेता वेब जर्नलिज्म पर सवाल खड़े करने लगे हैं। यूपी सरकार के प्रवक्ता और स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने सोमवार को वेब मीडिया पर हमला किया।

उन्होंने कहा, आज देश में वेब जर्नलिज्म नहीं, बल्क‍ि सुपारी जर्नलिज्म है। कुछ वेब पोर्टल्स किसी को भी बिना तथ्यों के बदनाम कर रहे हैं। वेब मीडिया पत्रकारिता नहीं, बल्क‍ि बदनाम करने का जरिया बन गया है।

 

 

उन्‍होंने कहा, अमित शाह के बेटे ने पूरी सफाई अपने लीगत अडवाइजर की ओर से दी है। उसके बाद भी विपक्ष के लोग इसे बेमतलब मुद्दा बनाने पर तुले हैं। हमने अपनी पार्टी पर उठ रहे सवाल का जवाब देने के लिए ये प्रेस कॉन्फ्रेस की है। उन्होंने कहा, आज बहुत से न्यूज पोर्टल आ गए जो सेंसेशनल खबरें डालकर अपना पोर्टल चला रहे हैं।

 

जब एक पत्रकार ने सवाल पूछा कि जब आप विपक्ष में थे तो क‍हते थे कि रॉबर्ड वाड्रा के खिलाफ इतने पेपर्स हैं कि वो पूरी जिंदगी जेल में गुजारेंगे, पिछले तीन सालों से आपकी केंद्र में सरकार है ये बताइए कि रॉबर्ड वाड्रा कितनी बार जेल गए और बाहर आए? इस पर उन्होंने कहा, रॉबर्ट वाड्रा को जेल जाना ही चाहिए। कानून अपना काम कर रहा है। देर जरूर लग रही है, लेकिन दोषी बक्शे नहीं जाएंगे।

 

 

दूसरी ओर, कैबिनेट मंत्री सुरेश खन्ना ने अमित शाह का बचाव करते हुए कहा, किसी ने कोई चीटिंग नहीं की है। कंपनी का सारा काम बैंकिंग के जरिये किया गया है। जिस बिजनेस को लक्ष्‍य किया जा रहा है वो बंद हो चुकी है। अगर यह अमित शाह के बेटे का मामला नहीं होता तो कोई खबर ही नहीं होती। सब कुछ लीगल है।

वहीं, एक पत्रकार ने जब सुरेश खन्ना से सवाल किया कि जब कंपनी को लगातार इतने बढ़े स्तर पर फायदे हो रहे हैं तो कंपनी बंद क्यों की गई? इस पर उन्होंने कोई कमेंट नहीं किया।

 

 

क्या है मामला?

एक वेबसाइट ने जय शाह की कंपनी के बारे में रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज में दर्ज जानकारियों का हवाला देते हुए अपनी रिपोर्ट में लिखा कि टेंपल एंटरप्राइज प्राइवेट लिमिटेड, जिसमें जय शाह डायरेक्टर हैं। कंपनी का टर्नओवर 2014-14 की तुलना में 2015-16 में 16000 गुना बढ़ गया। रिपोर्ट के मुताबिक, 2014-15 में कंपनी का टर्नओवर 50,000 रुपए था जो 2015-16 में बढ़कर 80.5 करोड़ हो गया।

 

रिपोर्ट के मुताबिक, कंपनी ने राज्यसभा सांसद परिमल नाथवाणी के रिश्तेदार राजेश खंडवाल से 15.78 करोड़ का लोन भी हासिल किया। परिमल नाथवाणी रिलायंस इंडस्ट्रीज में सीनियर एग्जीक्यूटिव भी हैं। जय शाह ने बयान जारी कर किसी भी प्रकार की अनियमितिता के आरोप का खंडन किया है।

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555


संबंधित खबरें



HTML Comment Box is loading comments...

Content is loading...





What-Should-our-Attitude-be-Towards-China


Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll


Photo Gallery
अब कब आओगे मंत्री जी । फोटो- अभय वर्मा

Flicker News



Most read news

 


Most read news


Most read news


sex education news


उत्तर प्रदेश

खेल-कूद


rising news video

खबर आपके शहर की