Home Up News Mayawati Comments On RSS Chief Mohan Bhagwat Over His Statement On The Indian Army

कुशीनगर के विधायक रजनीकांत मणि त्रिपाठी को मिली धमकी

J-K: पाकिस्तान की ओर से फायरिंग में अब तक 6 नागरिक घायल

मद्रास हाईकोर्ट ने तूतीकोरिन में स्टरलाइट प्लांट के विस्तार पर लगाई रोक

दिल्लीः कैबिनेट की बैठक शुरू, तेल की कीमतों पर हो सकता है फैसला

कर्नाटकः शपथ ग्रहण के खिलाफ BJP के विरोध-प्रदर्शन में शामिल हुए येदियुरप्पा

“स्वयंसेवकों पर भरोसा है तो कमांडो क्यों ले रखें हैं?”

UP | Last Updated : Feb 13, 2018 05:07 PM IST

Mayawati Comments on RSS Chief Mohan Bhagwat over His Statement On The Indian Army


दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।

 

आरएसएस प्रमुख मोहन भागवन द्वारा सेना की तुलना स्यवंसेवकों से करने पर यूपी की पूर्व मुख्‍यमंत्री मायावती ने आपत्ति जाहिर की है। मंगलवार को एक बयान जारी कर उन्होंने कहा कि मोहन भागवत को अपने मिलिटेंट स्वयंसेवकों पर इतना ज्यादा भरोसा है तो उन्हें सुरक्षा के लिए सरकारी खर्चे पर विशेष कमांडो क्यों ले रखे हैं?

गौरतलब है कि आरएसएस प्रमुख ने मुजफ्फरनगर में स्वयंसेवकों की एक सभा को संबोधित करते हुए कहा था कि हम सैन्य संगठन नहीं हैं। मगर सेना जैसा अनुशासन हमारे अंदर है। अगर देश को जरूरत पड़े और देश का संविधान, कानून कहे तो सेना तैयार करने को छह-सात महीने लग जाएंगे। संघ के स्वयंसेवकों को लेंगे तो तीन दिन में तैयार हो जाएगे। ये हमारी क्षमता है।

बसपा सुप्रीमो ने कहा कि ऐसे समय में जब सेना को विभिन्न प्रकार की चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है, मोहन भागवन का बयान सेना के मनोबल को गिराने वाला है। इसकी इजाजत उन्हें नहीं दी जा सकती। मायावती ने आरएसएस प्रमुख से अपने बयानबाजी के लिए देश से मांफी मांगने को कहा है।

इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि आरएसएस अब सामाजिक संगठन न रहकर राजनैतिक संगठन में तब्दील होता जा रहा है, जो बीजेपी की चुनावी राजनीति करने में व्यस्त नजर आता है।



" जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555 "


Loading...


Flicker News

Loading...

Most read news


Most read news


rising@8AM


Loading...