Golmal Starcast Will Be in Cameo in Ranveer Singh Simba

दि राइजिंग न्यूज़

लखनऊ।

 

उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने आज पार्टी कार्यालय में एक प्रेस कांफ्रेंस की। इस दौरान उन्होंने यूपी पुलिस के एनकाउंटर पर सवाल उठाया। दरअसल, मेरठ के मवाना क्षेत्र में यूपी पुलिस ने एक एनकाउंटर किया था। इस मामले में पीड़ित परिवार ने पुलिस पर रुपए मांगने का आरोप लगाया था।  परिवार वालों ने कहा था कि उनसे पैसों का इंतजाम नहीं हो पाया। मामले में पुलिस पर पीड़ित को थर्ड डिग्री देकर मार डालने का आरोप है। पीड़ित परिवार ने पूर्व सीएम से मिलकर इसकी शिकायत भी की थी।

 

इस मामले में पूर्व सीएम का कहना है कि, “मैं तो पहले से ही यूपी पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठा रहा हूं। पुलिस को बदमाश का नाम सार्वजनिक करना चाहिए। मेरठ की इस घटना में हस्तिनापुर के बीजेपी विधायक का पूरा-पूरा हाथ है। मेरठ की मवाना थाने की पुलिस ने साफ कहा था कि विधायक कहेंगे तो पीड़ित तुरंत छूट जायेगा।”

उन्होंने आगे कहा- “ये पीड़ित परिवार मुझसे मिलना चाह रहा था, प्रशासन ने रोका, मृतक की मां का सादे कागज पर अंगूठा ले लिया। मथुरा के फर्जी एनकाउंटर में एक बच्चे की जान गई, मैने योगी सरकार से कहा 50 लाख की मदद करें, लेकिन बीजेपी के लोग बस बाते करते हैं।

 

चुनाव आते ही जाती-धर्म पर बोलने लगते हैं भाजपाई

भाजपा पर निशाना साधते हुए अखिलेश ने कहा कि, “ये बीजेपी के लोग चुनाव आते ही जाति, धर्म की बात करने लगते हैं। किसानों के बकाए पर सरकार ध्यान ही नहीं दे रही है। अगर समाजवादी किसानों के समर्थन में प्रदर्शन करते हैं तो उनपर लाठियां चलवाई जाती हैं।”

सीतापुर की घटना पर भी बोले अखिलेश

सीतापुर में आदमखोर कुत्तों के आतंक पर पूर्व सीएम बोले- यूपी पुलिस, कुत्तों को पकड़ नही पा रही लेकिन फर्जी एनकाउंटर हो रहे। उन्होंने आगे कहा कि सीतापुर में जिन बच्चों की मौत हुई है उन्हें योगी जी 10 लाख रुपए का मुआवजा दें।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement