Home Up News Jawahar Bagh Violence Accused Rampal Dies In Jail

दावोस में कनाडा के पीएम जस्टिन ट्रूडो से मिले पीएम नरेंद्र मोदी

गुजरात निकाय चुनाव की तारीखें घोष‍ित, 17 को वोटिंग, 19 फरवरी को काउंटिंग

केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और सुरेश प्रभु ने की PM मोदी के भाषण की तारीफ

कुंदुली रेप पीड़‍िता द्वारा स्यूसाइड कर लेने के मामले में बीजेपी ने बुलाया ओडिशा बंद

मौसम ने मारी पलटी, शिमला में हुई बर्फबारी

जवाहरबाग हिंसा के आरोपी रामपाल की जेल में मौत

UP | 12-Nov-2017 11:20:40 | Posted by - Admin
   
Jawahar Bagh Violence Accused Rampal Dies in Jail

दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।

 

रविवार को मथुरा जिला कारागार में बंद जवाहरबाग कांड के एक आरोपित की तबीयत खराब हो गई, जिसके बाद उसने जिला अस्पताल ले जाते समय दम तोड़ दिया। देश दुनिया में सुर्खियों में रहे जवाहरबाग कांड में लखीमपुर खीरी जिले के थाना मोहम्मदी निवासी 70 वर्षीय रामपाल भी आरोपित था।

 

 

वह तीन जून 2016 से यहां जिला कारागार में बंद था। रविवार सुबह नहाने के दौरान वह गिर गया था। अन्य बंदियों के शोर मचाने पर जेल प्रशासन ने उसे तत्काल जेल के अस्पताल में पहुंचाया। प्राथमिक उपचार और ऑक्सीजन देने के बाद भी स्वास्थ्य में कोई सुधार नहीं होने पर उसे जिला अस्पताल ले जाया गया, लेकिन तब तक उसकी सांसें टूट चुकी थीं।

 

 

जिला अस्पताल के चिकित्सक डॉ. धर्मवीर ने बताया कि बंदी जिला अस्पताल में मृत लाया गया था। जेलर अर्जुन पांडे का कहना है कि मौत का कारण पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर स्पष्ट होगा। माना जा रहा है कि उसे हार्ट अटैक पड़ा होगा।

बता दें कि दो जून 2016 को जवाहरबाग खाली कराने के दौरान संघर्ष में दो पुलिस अधिकारी और 22 उपद्रवी मारे गए थे।

 

 

क्या था मामला?

साल 2014 में की बात है जब रामवृक्ष यादव के नेतृत्व में सशस्त्र अतिक्रमणकारियों के एक दल ने जवाहर बाग की भूमि पर कब्जा कर लिया था। काफी कोशिश के बाद भी पुलिस व प्रशासन यह अवैध कब्जा नहीं हटा सकी थी। इस संबंध में हाईकोर्ट में कई याचिकाएं लगाई गई जिसके बाद हाईकोर्ट से कब्जा मुक्त कराने के आदेश दिए।

 

 

दो जून 2016 पुलिस फोर्स जवाहर बाग को खाली कराने पहुंची, जहां रामवृक्ष यादव के नेतृत्व में सशस्त्र अतिक्रमणकारियों ने हमला बोल दिया। इस हमले में एसपी सिटी मुकुल द्विवेदी और एसओ संतोष कुमार यादव शहीद हो गए थे। वहीं कई पुलिस वाले भी गंभीर रूप से घायल हो गए। पुलिस की जवाबी कार्रवाई में लगभग 22 सशस्त्र अतिक्रमणकारी भी मारे गए थे।

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555








TraffBoost.NET

Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll





Flicker News

Most read news

 


Most read news


Most read news