Irrfan Khan Writes an Emotional Letter About His Health

दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।


21 जून को अंतर्राष्‍ट्रीय योग दिवस के लिए पीएम नरेंद्र मोदी इस बार राजधानी लखनऊ में आने वाले हैं। पीएम मोदी आज लखनऊ पहुंचेंगे और कल लखनऊ के रमाबाई आंबेडकर मैदान में योग दिवस के कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे।


कार्यक्रम से पहले पीएम मोदी के दौरे की तैयारियों का जिम्‍मा जिन आला अधिकारियों के हाथों में है वही पुलिस के आला अफसर लखनऊ में आपस में ही भिड़ गए हैं। लखनऊ के एसएसपी दीपक कुमार औऱ स्पेशल इंवेस्टीटेशन टीम के एसपी नागेश्वर सिंह के बीच भरी सभा में तू-तू मैं-मैं का वीडियो वायरल हो गया है।


आईपीएस अफसरों के बीच हुई इस तू-तू, मैं-मैं की विभागीय जांच शुरू हो गई है। एसआईटी के एसपी नागेश्वर सिंह के ख़िलाफ़ विभागीय जांच की जा रही है। उन पर आरोप है कि उन्‍होंने ही झगड़े का वीडियो एसएसपी दीपक को नीचा दिखाने के लिए वायरल करवाया। इस बात की भी जांच हो रही है कि वीडियो किसने बनाया और लोगों तक ये पहुंचा कैसे? और नागेश्वर जान बूझ कर मीटिंग से घंटे भर पहले कैसे पहुंचे?

 

कौन हैं ये दोनों अफसर?


जो दो अफसर आपस में भिड़े हैं उनमें से एक लखनऊ के एसएसपी दीपक कुमार हैं और दूसरे एसआईटी यानी स्पेशल इंवेस्टीगेशन टीम के एसपी नागेश्वर सिंह है। 18 जून की शाम लखनऊ में पुलिस महकमे के इन दो बड़े अफसरों के बीच खूब तू-तू, मैं-मैं हुई।


क्‍या बोले एक-दूसरे से


  • एसपी नागेश्वर सिंह- हम प्रोटेस्ट करते हैं, हमारा नाम नोट कर लिया जाए?
  • एसएसपी दीपक कुमार- इसमें नाम नोट करने की क्या बात है?
  • एसपी नागेश्वर सिंह- यह प्रोटेस्ट है सर, पांच बजे से हम लोगों को बुलाया गया, बिठाया गया और अब साढ़े छह बज रहे हैं, अभी पानी तक नहीं पूछा गया है।
  • एसएसपी दीपक कुमार- ठीक है, आप अपनी ड्यूटी नहीं कर सकते तो आप चले जाइए।
  • एसपी नागेश्वर सिंह- आपके कहने से मैं नहीं जाऊंगा। डीआईजी साहब आएंगे और वो कहेंगे तब मैं चला जाऊंगा।
  • एसएसपी दीपक कुमार- आप मत करिए ड्यूटी।
  • एसपी नागेश्वर सिंह- आपके कहने से नहीं जाऊंगा।
  • एसएसपी दीपक कुमार- आपको करना है करो, नहीं करना हो तो कोई जबरदस्ती नहीं है।
  • एसपी नागेश्वर सिंह- मैं प्रोटेस्ट कर रहा हूं, ये गलत है, सर।

 

वायरल वीडियो के मुताबिक, 18 जून की शाम लखनऊ में हुई मीटिंग में एसएसपी लखनऊ दीपक कुमार करीब दो घंटे 20 मिनट देर से पहुंचे। इस पर एसआईटी के एसपी नागेश्वर सिंह भड़क गए और अपने सीनियर अफसर से भिड़ गए। एसएसपी दीपक कुमार ने मामले को शांत करने की कोशिश की और सभी पुलिस अधिकारियों को बताया कि उन्हें छह बजे बुलाया गया था।


एसआईटी के एसपी नागेश्वर सिंह इस मीटिंग में शाम पांच बजे पहुंचने की बात एसएसपी दीपक कुमार से कह रहे हैं, लेकिन उनकी लखनऊ के एक पुलिस इंस्पेक्टर बातचीत का ऑडियो वायरल हुआ हैजिसमें नागेश्वर सिंह का ये दावा झूठा लग रहा है।


एसपी साहब को पहले से सब पता था?

 

  • शिवप्रताप, आरआई- जयहिंद सर, शिवप्रताप बोल रहा हूं, आरआई लखनऊ से।
  • एसपी नागेश्वर सिंह- हां, मैं एसपी एसआईटी बोल रहा हूं। तो शाम को कहां है?
  • शिवप्रताप- शाम को सर बदल गया है, पहले पुलिस लाइन में था अब भीमराव आंबेडकर यूनिवर्सिटी है, उसमें ऑडिटोरियम है, बहुत अच्छा बना हुआ है, उसी के अंदर हैं सर।
  • एसपी नागेश्वर सिंह- जो भीमराव आंबेडकर यूनिवर्सिटी है आशियाना में, वहां है?
  • शिवप्रताप- जी, जी, रमाबाई आंबेडकर पार्क से बस दस कदम दूर लगा हुआ है, उसी में हैं।
  • एसपी नागेश्वर सिंह- अच्छा, अच्छा कितने बजे है?
  • शिवप्रताप- EXACT टाइम छह बजे का है सर।

  • एसपी नागेश्वर सिंह- छह बजे शुरू हो जाएगा, भीमराव आंबेडकर यूनिवर्सिटी में आशियाना के पास।
  • शिवप्रताप- जी सर।
  • एसपी नागेश्वर सिंह- थैंक्यू।

फिलहाल पुलिस के अफसरों ने दोनों अफसरों को समझा-बुझाकर मामला शांत करा दिया है लेकिन पुलिस के दो बड़े अफसरों के बीच तू-तू, मैं-मैं की लखनऊ के सरकारी गलियारों और सोशल मीडिया में खूब चर्चा हो रही है।



यह भी पढ़ें

बीजेपी का दलित कार्ड, कोविंद होंगे राष्ट्रपति

दलित के बदले दलितविपक्ष की ओर से मीरा कुमार

होटल ताज को मिला ट्रेडमार्क

जब गोरे उर्दू नहीं बोल सकते, तो हम अंग्रेजी क्‍यों बोलें

फ्लाइट में महिला से की अश्‍लीलता, धरा गया

केरल फंसा वायरल फीवर की चपेट में

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

The Rising News

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll