Updates on Priyanka Chopra and Nick Jones Roka Ceremony

दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।

 

रविवार को डॉ. कफील के भाई काशिफ पर हुए जानलेवा हमले की बसपा सुप्रीमो मायावती ने कठोर निंदा की है। सोमवार को जारी एक बयान में प्रदेश की बदहाल कानून व्यवस्था को लेकर उन्होंने योगी सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्‍होंने कहा कि ये घटनाएं प्रदेश में बढ़ते जंगलराज का प्रमाण हैं। इलाहाबाद में वकील रवि तिवारी की हत्या पर भी उन्होंने गहरी नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने योगी सरकार को नसीहत देते हुए जनसुरक्षा, जनहित और जनकल्याण पर विशेष ध्यान देने की जरूरत महसूस की।

गौरतलब है कि गोरखपुर में बीआरडी मेडिकल कॉलेज में बच्चों की मौत के आरोपी डॉ कफील के भाई काशिफ को कुछ अज्ञात हमलावरों ने रविवार देर रात गोली मार दी थी।

बसपा सुप्रीमो ने कहा कि बीजेपी सरकार के मंत्रियों की बड़ी-बड़ी बयानबाजी व जुमलेबाजी के कारण ही प्रदेश में अव्यवस्था, अराजकता व हिंसा का राज व्याप्त है।

संयुक्त सचिव की सीधी भर्ती मोदी सरकार की विफलता

बसपा सुप्रीमो ने केंद्र सरकार द्वारा 10 महत्वपूर्ण विभागों में प्राइवेट सेक्टर के लोगों को सीधे संयुक्त सचिव पद पर नियुक्ति देने के फैसले को मोदी सरकार की विफलता बताया। उन्होंने कहा कि यह प्रवृति बहुत ही खतरनाक है। मोदी सरकार प्रशासनिक विफलता को छिपाने के लिए इस तरह के कदम उठा रही है।

मायावती ने कहा कि जब केंद्र और राज्य सरकार के पास निविदा के आधार पर अनुभवी विशेषज्ञों को रखने की व्यवस्था व प्रचलन है, तो केंद्र में संयुक्त सचिव पद पर बाहरी व्यक्ति को बिना यूपीएससी की स्वीकृति के बैठाना सरकारी व्यवस्था का मजाक उड़ाना है।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Public Poll