Akshay Kumar Gold And John Abraham Satyameva Jayate Box Office Collection Day 2

दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।

 

पूर्व सीएम अखिलेश यादव सरकारी आवास में तोड़फोड़ को लेकर आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला थम नहीं रहा है। सोमवार को राज्यसभा सदस्य अमर सिंह ने पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर बंगला छोड़ने के बाद उसमें तोड़फोड़ कराने को लेकर निशाना साधा।

अमर सिंह ने ट्विटर पर वीडियो जारी कर अखिलेश को घटिया और बेहूदा आदमी करार दिया। कहा कि यदि अखिलेश ने अपने धन से बंगला बनवाया तो वह बताएं कि इतना पैसा कैसे कमाया और इसका उन्होंने टैक्स दिया कि नहीं।

किया यह सवाल

उन्होंने कहा कि अखिलेश को यह जवाब देना चाहिए कि बंगले में लगे सौ-सौ एसी, इटालियन टाइल्स और स्विमिंग पूल उनके खर्च पर बना था या फिर राजस्व विभाग के बजट से। अमर सिंह ने सवाल किया कि आप समाजवादी हैं, पूंजीवादी हैं या फिर अवसरवादी या कथित दुष्कर्मी व अवैध खनन से धन कमाने वाले गायत्री प्रसाद प्रजापति के सहयोग से अपने जीवन को बेहतर बनाने वाले व्यक्ति हैं।

 

 

उन्‍होंने कहा कि अगर यह सब आपके पैसे से था तो जनता को हिसाब दीजिए कि यह पैसा आपने कैसे कमाया। अगर यह सब सरकार का था तो दुरुपयोग करने का आपको क्या अधिकार है।

न पिता पसंद, न परिवार पसंद और अगर बंगला छोड़ना पड़े तो वो भी पसंद नहीं

अमर सिंह ने कहा कि अखिलेश यादव को न तो पिता पसंद है, न परिवार पसंद है और सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर अगर बंगला छोड़ना पड़े तो वो भी पसंद नहीं। ये बाल हठ कब छोड़ेंगे आप। ऐसे छोटे मन वाले व्यक्ति के लिए पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने कहा था कि छोटे मन से राजनीति नहीं होती। कोई बड़ा काम नहीं होता।

बंगलों की जांच जारी

पूर्व मुख्यमंत्रियों द्वारा खाली किए बंगलों की जांच व सामान आदि का मिलान किया जा रहा है। एक दो दिन में कार्रवाई पूरी होने के बाद ही अगली कार्रवाई की जाएगी। राज्य संपत्ति अधिकारी योगेश कुमार शुक्ला ने बताया कि नुकसान के बारे में अभी कुछ नहीं कहा जा सकता है। उन्होंने नारायण दत्त तिवारी द्वारा बंगला खाली करने के सवाल पर कहा कि इसको लेकर तिवारी के परिवारीजन से संपर्क साधा जा रहा है।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Public Poll