Kareena Kapoor Will Work With SRK and Akshay Kumar in 2019

दि राइजिंग न्‍यूज  

लखनऊ।  

 

बुधवार को नोटबंदी के एक साल पूरे होने पर सूबे के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने सरकार पर हमला किया है। बुधवार को अखिलेश यादव ने नोटबंदी को लेकर दो ट्वीट किए। अखिलेश यादव ने अपने ट्वीट में लिखा- नोटबंदी की लाइन में जन्में "खजांची" की मां नहीं जानतीं कालाधन क्या होता है। हम नोटबंदी का जश्न नहीं पर "खजांची" का जन्मदिन जरूर मनायेंगे।

 

 

अखिलेश ने अपने ट्विटर पर लिखा- "अर्थव्यवस्था की बदहाली, कारोबार-उद्योग की बर्बादी व देशव्यापी बेरोजगारी में नोटबंदी का जश्न दुखद है। ये नोटबंदी का एक बरस नहीं बरसी है।"

अखिलेश यादव ने नोटबंदी के दौरान बैंक की लाइन में जन्में खजांची की मां के साथ फोटो पोस्ट करते हुए लिखा है- "हम नोटबंदी का जश्न नहीं पर खजांची का जन्मदिन जरूर मनाएंगे।"

 

 

 

नोटबंदी के दौरान कानपुर देहात के एक गांव की रहने वाली गर्भवती सर्वेशा भी बैंक की लाइन में लगी थी। सर्वेशा दो दिसंबर, 2016 को पंजाब नेशनल बैंक की लाइन में लगी थी। बैंक के बाहर ही उसने बेटे को जन्म दिया था। नोटबंदी के दौरान जन्म लेने पर उसका नाम खजांची पड़ गया था। खजांची अब एक साल का होने वाला है।

खजांची के जन्म समय उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव थे। उन्होंने आर्थिक मदद के लिए खजांची की मां को दो लाख रुपये दिये थे। सरकार ने ये पैसा खजांची के देखभाल के लिए दिया था।

 

 

बता दें कि पिछले साल आठ नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तीनों आर्मी चीफ्स और प्रेसिडेंट प्रणब मुखर्जी से मुलाकात की। मोदी ने रात आठ बजे राष्ट्र के नाम संदेश दिया। उन्होंने कहा- देश को भ्रष्टाचार और कालेधन रूपी दीमक से मुक्त कराने के लिए एक और सख्त कदम उठाना जरूरी हो गया है। आज मध्यरात्रि यानी आठ नवंबर 2016 की रात्रि को 12 बजे से वर्तमान में जारी 500 रुपए 1000 रुपए के करंसी नोट लीगल टेंडर नहीं रहेंगे। ये मुद्राएं कानूनन अमान्य होंगी।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll