Home Up News CM Impeccable Reputation At Risk

काले धन और भ्रष्टाचार पर हमारी कार्रवाई से कांग्रेस असहज: अरुण जेटली

मुंबई के पृथ्वी शॉ बने दिलीप ट्रॉफी फाइनल में शतक लगाने वाले सबसे कम उम्र के खिलाड़ी

दिल्ली में बीजेपी कार्यकारिणी की बैठक संपन्न हुई

31 अक्टूबर को रन फॉर यूनिटी का आयोजन होगा: अरुण जेटली

एक निजी संस्था ने हनीप्रीत का सुराग देने वाले को 5 लाख का इनाम देने की घोषणा की

Trending :   #Hot_Photoshot   #Sports   #Politics   #Hollywood   #Bollywood

सीएम की बेदाग छवि को खतरा

UP | 12-Jan-2017 11:41:02 AM
     
  
  rising news official whatsapp number

CM impeccable reputation at risk

दि राइजिंग न्‍यूज ब्‍यूरो

कमल दुबे

13 जनवरी, लखनऊ।

विधानसभा चुनाव से पहले अखिलेश यादव सरकार की मुश्किलें बढ़ने के आसार हैं। यूपी में बड़े पैमाने पर अवैध खनन के मामले की सीबीआइ जांच का रास्ता साफ होने के बाद अखिलेश सरकार के मंत्री गायत्री प्रजापति सहित कई बड़े अफसरों के फंसने की संभावना है।

सरकार के मंत्री और अफसरों के गिरफ्त में आने की दशा में अरबों रुपए के इस अवैध खनन घोटाले का कीचड़ अब तक बेदाग रही अखिलेश यादव सरकार तक जाना तय है। चुनाव का माहौल होने के कारण विपक्षी पार्टियां इसे बड़ा मुद्दा बनाकर मतदाताओं के बीच रखेगी। अपने अब तक के कार्यकाल में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की छवि बेदाग रही है। 

सूत्रों का कहना है कि चुनाव तक अपनी बेदाग छवि को बनाए रखने के लिए अखिलेश सरकार सुप्रीम कोर्ट में पुर्नविचार याचिका के लिए जा सकती है। इसके कानूनी पहलुओं पर सरकार का न्याय विभाग कवायद करने में जुट गया है।


सबकुछ जानते हुए भी सरकार ने लिया था यूटर्न

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने पिछले साल जुलाई माह में यूपी में अवैध खनन के मामले में सीबीआइ जांच के आदेश दिए थे। जिस पर अचानक बचाव की मुद्रा में आई सरकार ने आननफानन तत्कालीन खनन मंत्री गायत्री प्रजापति को मंत्रिमंडल से बर्खास्त कर दिया था। इसके अलावा तत्कालीन खनन सचिव को भी हटा दिया गया था।

अवैध खनन घोटाले के कीचड़ से बचने के लिए शुरुआती कार्रवाई के बाद एकाएक अखिलेश सरकार ने यूटर्न लेते हुए गायत्री प्रजापति को फिर से मंत्रिमंडल में ले लिया था और हाई कोर्ट के फैसले को लेकर सुप्रीम कोर्ट में अपील की थी। जिस पर सुप्रीम कोर्ट ने बीते अक्टूबर माह में हाई कोर्ट के फैसले पर रोक लगा दी थी। सुप्रीम कोर्ट में चीफ जस्टिस की अगुवाई वाली बेंच ने कल सीबीआइ जांच पर लगाई गई रोक को हटाते हुए यूपी सरकार की अपील को खारिज कर दिया है।


सुप्रीम कोर्ट के निर्णय से परेशान सरकार

अभी तक कुनबे की घमासान से जूझ रही अखिलेश यादव सरकार सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के बाद खासी परेशान नजर आ रही है। सरकार को डर है कि खनन मामले की सीबीआइ हुई तो बेदाग अखिलेश सरकार पर बड़ा दाग लग सकता है।


मायावती सरकार से भी बड़ा घोटाला

जानकारों का कहना है कि रोक के बावजूद यूपी में अवैध खनन में पिछली मायावती सरकार से भी बड़ा घोटाला हुआ है। सरकार के मंत्री गायत्री प्रजापति तथा कुछ सांसद और विधायकों की देखरेख में बड़े पैमाने पर अवैध खनन हुआ है। जिसमे पांच सौ से सात सौ रुपये प्रति ट्रक की लगान वसूली की जाती थी। 

सूत्रों का कहना है कि जालौन में एक जिलाधिकारी के द्वारा अवैध खनन पर सख्ती किए जाने पर कई ट्रक पकड़े गए। इन ट्रकों ने सरकार के मंत्रियों और विधायकों के नाम कबूले थे। बाद में इस डीएम का अखिलेश यादव सरकार ने तबादला कर दिया था।



जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

संबंधित खबरें

HTML Comment Box is loading comments...

 


Content is loading...



What-Should-our-Attitude-be-Towards-China


Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll



Photo Gallery
जय माता दी........नवरात्र के लिए मॉ दुर्गा की प्रतिमा को भव्‍य रूप देता कलाकार। फोटो - कुलदीप सिंह

Flicker News


Most read news

 



Most read news


Most read news


खबर आपके शहर की