Ayushman Khurrana Wants To Work in Kishore Kumar Biopic

दि राइजिंग न्‍यूज

मेरठ।

 

पश्चिमी उत्तर प्रदेश में आए दिन धर्म परिवर्तन के मामले सामने आ रहे हैं। मेरठ में एक बार फिर धर्म परिवर्तन का जिन्न बोतल से बाहर निकल आया है। जहां पर मंदिर में मूर्ति स्थापित ना होने से गुस्साए सैकड़ों ग्रामीणों ने सामूहिक रूप से धर्म परिवर्तन करने की चेतावनी दे डाली है। भारी संख्या में गुस्साए ग्रामीण अपनी बात को लेकर डीएम आवास पर पहुंचे और जमकर हंगामा किया। जिलाधिकारी ने मामले की जांच एसपी देहात राजेश कुमार को सौंप दी है।

मामला एक ही समुदाय से जुड़े दो व्यक्तिओं का है। मन्नत पूरी होने के बाद राजकुमार मंदिर में काली माता की मूर्ति लगाने पहुंचा। मगर, मंदिर समिति के अध्यक्ष शिव चरण ने मना कर दिया, जिसके बाद इन लोगों ने विरोध किया। मेरठ के थाना इंचौली क्षेत्र के मसूरी गांव में दलित समाज के लोग गांव में स्थित मंदिर में काली माता की मूर्ति स्थापित करना चाहते हैं लेकिन गांव के ही कुछ लोग इस बात का विरोध कर रहे हैं।

 

 

लोगों का कहना है कि पहले तो मंदिर के पुजारी ने मूर्ति स्थापना करने के लिए ग्रामीणों से कह दिया था लेकिन जब ग्रामीण मूर्ति ले आए तो दबंगों के कहने में आकर पुजारी ने मंदिर का दरवाजा बंद कर दिया और मूर्ति स्थापना करने से मना कर दिया। ग्रामीणों का आरोप है कि जब उन्होंने मंदिर में मूर्ति स्थापना करने की जिद की तो दबंग लोग मंदिर के बाहर लाठी डंडे लेकर बैठ गए। साथ ही उनका यह भी कहना है कि दबंग लोग मंदिर परिसर में अपने वाहन खड़े करते हैं और मंदिर की जगह को पंचायत घर बनाना चाहते हैं लेकिन काली की मूर्ति यहां पर स्थापित नहीं होने दे रहे हैं।

इस बात से गुस्साए गांव वालों ने आज मेरठ जिलाधिकारी के घर का रुख किया और वहां पहुंचकर जिलाधिकारी के घर के बाहर हंगामा भी किया। इन लोगों का कहना है कि अगर उनको अपने मंदिर में मूर्ति स्थापित नहीं करने दी जा रही है तो वो अपने परिवारों के साथ धर्म परिवर्तन कर लेंगे। इन लोगों ने बताया कि धर्म परिवर्तन करने वाले 50 से ज़्यादा परिवार हैं।

वहीं, इस मामले पर एसपी देहात राजेश कुमार का कहना है कि धर्म परिवर्तन जैसी कोई बात नहीं है। मंदिर की रजिस्टर्ड सोसाइटी बनी हुई है। जो सोसायटी के मेंबर हैं वह मंदिर में मूर्ति लगवाने को मना कर रहे हैं क्योंकि मंदिर में पहले से ही मूर्ति स्थापित है। अगर कोई धर्म परिवर्तन जैसी बात है तो उसकी जांच कर करवाई की जाएगी।

फिलहाल, मूर्ति स्थापित न होने की सूरत में ये लोग धर्म परिवर्तन की बात पर अड़े हुए हैं।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement