Home Top News Yashwant Sinha Attacks On Arun Jaitley

जज लोया मौत केसः SC ने कहा- नहीं होगी सीबीआई जांच

जज लोया मौत केसः SC ने कहा- जजों के बयान पर शक की वजह नहीं

दिल्ली पुलिस पीसीआर पर तैनात एएसआई धर्मबीर ने खुद को गोली मारी

दिल्ली: केंद्रीय खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह ने की IOC प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात

बिहार: पटना के एटीएम में कैश ना होने से स्थानीय लोग परेशान

यशवंत सिन्‍हा का वार- गुजरात के लिए बोझ हैं जेटली

Home | 15-Nov-2017 10:05:28 | Posted by - Admin
  • बोले- GST के लिए देश मांग सकता है इस्तीफा
   
Yashwant Sinha Attacks on Arun Jaitley

दि राइजिंग न्‍यूज

नई दिल्‍ली।

 

जीएसटी और अर्थव्यवस्था के मुद्दे पर अपनी ही सरकार पर निशाना साध रहे भाजपा के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा ने एक बार फिर वित्त मंत्री अरुण जेटली पर हमला बोला है। उन्होंने कहा है, खामियों भरे जीएसटी को लागू करने के लिए देश जेटली के इस्तीफे की मांग कर सकता है। वह मानते हैं कि जेटली गुजरात के लोगों के लिए एक बोझ हैं। दरअसल, जेटली गुजरात से ही राज्यसभा के सदस्य हैं।

 

 

यहां मीडिया से बात करते हुए उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार ने जीएसटी के हर पहलू पर अच्छे से विचार किए बिना ही उसे लागू कर दिया। पूर्व वित्तमंत्री ने कहा, देश की अर्थव्यवस्था को बहुत ही कम समय में नोटबंदी और जीएसटी के रूप में दो बड़े झटके दिए गए। “लोकशाही बचाओ आंदोलन” के कार्यकर्ताओं के न्यौते पर सिन्हा विधानसभा चुनाव की ओर बढ़ रहे गुजरात पहुंचे हैं। उन्होंने देश की अर्थव्यवस्था और जीएसटी व नोटबंदी के असर पर खुलकर अपने विचार रखे।

 

 

एक सवाल के जवाब में वरिष्ठ भाजपा नेता ने कहा, हमारे वित्त मंत्री गुजरात से नहीं हैं, लेकिन वह गुजरात से राज्यसभा के लिए चुने गए हैं। वह गुजरात के लोगों पर एक बोझ की तरह हैं। अगर उन्हें यह से नहीं चुना जाता तो किसी गुजराती को यह मौका मिलता। उन्होंने कहा, वित्तमंत्री को लगता है कि एक ही व्यक्ति शासन कर सकता है। यह चिट भी मेरी पट भी मेरी जैसा है। जेटली हर चीज का श्रेय ले रहे हैं। यहां तक कि उसका भी जिसे सही तरीके से लागू नहीं किया गया।

 

 

अगर जीएसटी की दरों को तय करने में पूरी सावधानी बरती जाती तो इस तरह की विसंगति और अराजकता से बचा जा सकता था। वरिष्ठ नेता ने कहा, वह देश को एक खामियों से भरी कर व्यवस्था में डालने का श्रेय नहीं ले सकते। इस देश के लोग पूरे हक से उनका इस्तीफा मांग सकते हैं।

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555








TraffBoost.NET

Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll

Merchants-Views-on-Yogi-Government-One-Year-Completion




Flicker News

Most read news

 


Most read news


Most read news