Home Top News Yashwant Sinha Again Slams Over Finance Minister Arun Jaitley On GST

देश में कानून को लेकर दिक्कत नहीं बल्कि उसे लागू करने को लेकर है: आशुतोष

पार्टी ने यशवंत सिन्हा को अहमियत दी जिससे वो अहंकारी हो गए: BJP सांसद

काबुल में आत्मघाती हमला, 9 लोगों की मौत, 56 घायल

सीताराम येचुरी फिर चुने गए CPI(M) के महसचिव

महाराष्ट्र: गढ़चिरौली मुठभेड़ में अबतक 14 नक्सली ढेर

जेटली ने GST में नहीं लगाया दिमाग

Home | Last Updated : Nov 10, 2017 04:51 PM IST

 

तुरंत बर्खास्त करें PM

   
Yashwant Sinha Again Slams over Finance Minister Arun Jaitley on GST

दि राइजिंग न्यूज़

नई दिल्ली।

 

पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा ने एक बार फिर अरुण जेटली पर निशाना साधा है। जीएसटी की दरों में बदलाव को लेकर चल रही बैठक पर सिन्हा ने कहा कि इसे लागू करते वक्त वित्तमंत्री ने दिमाग का इस्तेमाल नहीं किया। उन्होंने कहा कि जीएसटी को लेकर रोज बदलाव हो रहे हैं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चाहिए कि वह वित्त मंत्री अरुण जेटली को तुरंत बर्खास्त कर दें।

 

सिन्हा ने कहा कि अरुण जेटली ने जीएसटी का कबाड़ा कर दिया है। जेडीयू नेता उदय नारायण चौधरी ने बयान पर पलटवार करते हुए उन्होंने कहा कि चौधरी को पता होना चाहिए कि मैंने सात बार बजट पेश किया है। बता दें कि चौधरी ने सिन्हा पर तंज कसते हुए कहा था कि यशवंत सिन्हा बैठे हुए भी अपना बजट पेश कर सकते हैं।

जेटली पर एक बार फिर हमला करते हुए उन्होंने कहा कि कुछ लोग कह रहे हैं कि मैं 80 वर्ष की अवस्था में नौकरी ढूंढ़ रहा हूं। जो लोग ऐसा कह रहे हैं उनको बताना चाहूंगा कि मैंने उनकी तरह कभी बैठकर बजट नहीं पेश किया।

 

जीडीपी में 2 प्रतिशत गिरावट, देश को 3 लाख करोड़ का नुकसान

 

उन्होंने कहा कि जीडीपी में 2 प्रतिशत की गिरावट आई है, इसका मतलब ये है कि देश को 3 लाख करोड़ का नुकसान हुआ है।

बिहार की सियासत में दलितों को लेकर चल रही उठापटक पर सिन्हा ने कहा कि शोषितों को उनका संवैधानिक अधिकार जरूर मिलना चाहिए। ये सरकार संविधान का मजाक बना रही है। न तो केंद्र सरकार और न बिहार सरकार, शोषितों के विकास को लेकर सजग हैं।

 

बिहार के मुख्यमंत्री को नसीहत देते हुए उन्होंने कहा कि प्राइवेट सेक्टर में आरक्षण देने के लिए अगर शोषितों और पिछड़ों के विकास के प्रति नीतीश कुमार गंभीर हैं तो उन्हें कानून बनाकर केंद्र को भेजना चाहिए।

28 प्रतिशत टैक्स से दर बाहर हुए 177 प्रोडक्ट

 

गुवाहाटी में चल रही जीएसटी  काउंसिल की बैठक में कई बड़े फैसले लिए गए हैं। शुक्रवार को हुई इस बैठक में फैसला हुआ है कि अब 28% स्लैब में कुल 50 ही प्रोडक्ट रहेंगे। पहले 28 फीसदी स्लैब में कुल 227 वस्तुएं थीं।

 

जीएसटी काउंसिल ने शेविंग क्रीम, टूथपेस्ट, शैंपू, चॉकलेट, मार्बल आदि को 28 फीसदी टैक्स की स्लैब से हटा दिया है। अब सिर्फ 50 लग्जरी प्रोडक्ट ही 28 फीसदी की श्रेणी में रहेंगे।


"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555




Flicker News

Loading...

Most read news


Most read news


Most read news


Loading...

Loading...