Home Top News Who Is Ram Nath Kovind Read Full Details

इलाहाबादः BJP विधायक संजय गुप्ता की गाड़ी सीज करने वाले दरोगा सस्पेंड

PNB घोटाला: मेहुल चोकसी के खिलाफ सीबीआई ने दर्ज की चार्जशीट

MP चुनाव: कांग्रेस को-ऑर्डिनेशन कमेटी के चेयरमैन नियुक्त हुए दिग्विजय सिंह

जोधपुरः 3 मंजिला इमारत ढही, मलबे में कई लोगों के दबे होने की आशंका

लालू प्रसाद आज शाम होंगे मुंबई रवाना, हृदय रोग का करवाएंगे इलाज

कौन हैं राम नाथ कोविंद, पढ़ें पूरी प्रोफाइल

Home | Last Updated : Jun 20, 2017 11:50 AM IST


who is ram nath kovind read full details


दि राइजिंग न्‍यूज

आउटपुट डेस्‍क।


राम नाथ कोविन्द भारतीय जनता पार्टी के राजनेता हैं। वे राज्यसभा सदस्य रह चुके हैं तथा वर्तमान में बिहार के राज्यपाल हैं। यही नहीं राम नाथ कोविंद ने दिल्‍ली हाईकोर्ट में 16 तक वकालत की है। कोविंद के परिवार में पत्नी, एक पुत्र और एक पुत्री है। बता दें कि केंद्र में मोदी सरकार बनने के बाद कोविंद उत्तर प्रदेश से राज्यपाल बनने वाले तीसरे व्यक्ति थे। उनके बड़े भाई प्यारेलाल व स्वर्गीय शिवबालक राम हैं।

 

राम नाथ कोविन्द का जन्म ए‍क अक्‍टूबर 1945 को उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले (वर्तमान में कानपुर देहात जिले) की तहसील डेरापुर के एक छोटे से गांव परौंख में हुआ था। कोविन्द का सम्बन्ध कोरी या कोली जाति से है, जो उत्तर प्रदेश में अनुसूचित जाति के अंतर्गत आती है। रामनाथ कोविंद की प्रारंभिक शिक्षा संदलपुर ब्लाक के ग्राम खानपुर परिषदीय प्राथमिक व पूर्व माध्यमिक विद्यालय हुई। कानपुर नगर के बीएनएसडी इंटरमीडिएट परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद डीएवी कॉलेज से बी कॉम व डीएवी लॉ कालेज से विधि स्नातक की पढ़ाई पूरी की।


कोविंद ने दिल्ली में रहकर आईएएसकी परीक्षा तीसरे प्रयास में पास की। लेकिन मुख्य सेवा के बजाय एलायड सेवा में चयन होने पर नौकरी ठुकरा दी। जून 1975 में आपातकाल के बाद बीजेपी की सरकार बनने पर वे वित्त मंत्री मोरारजी देसाई के निजी सचिव रहे थे। बीजेपी की सरकार में सुप्रीम कोर्ट के जूनियर काउंसलर के पद पर कार्य किया।

उन्‍होंने वकालत की उपाधि लेने के पश्चात् दिल्ली उच्च न्यायालय में वकालत प्रारम्भ की। वह 1977 से 1979 तक दिल्ली हाई कोर्ट में केंद्र सरकार के वकील रहे। 8 अगस्त 2014 को बिहार के राज्यपाल के पद पर नियुक्ति हुई।

 

12 साल तक राज्‍यसभा सदस्‍य रहे

वर्ष 1991 में भारतीय जनता पार्टी में सम्मिलित हो गये। वर्ष 1994 में उत्तर प्रदेश राज्य से राज्यसभाके सांसद निर्वाचित हुए और 2000 तक रहे। वर्ष 2000 में पुनः उत्तरप्रदेश राज्य से राज्यसभा के लिए निर्वाचित हुए और 2006 तक राज्‍यसभा सांसद रहे। इस प्रकार कोविन्द लगातार 12 वर्ष तक राज्यसभा के सदस्य रहे। वह भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता भी रहे। वे 1977 में पूर्व प्रधानमंत्री मोरारजी देसाई के विशेष कार्यकारी अधिकारी रहे चुके हैं। यहीं नहीं वह उत्‍तर प्रदेश के महामंत्री भी रह चुके हैं।

 

मकान भी दान कर चुके हैं

वह भाजपा दलित मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और अखिल भारतीय कोली समाज अध्यक्ष भी रहे। वर्ष 1986 में दलित वर्ग के कानूनी सहायता ब्यूरो के महामंत्री भी रहे। हरिद्वार में गंगा के तट पर स्थित कुष्ठ रोगियों की सेवा के लिए समर्पित संस्था दिव्य प्रेम सेवा मिशन के आजीवन संरक्षक भी हैं। बिहार के मौजूदा राज्यपाल रामनाथ कोविद अपने तीन भाइयों में सबसे छोटे हैं। कहा जाता है कि परौख गांव में कोविंद अपना पैतृक मकान बारातघर के रूप में दान कर चुके हैं।


यह भी पढ़ें

सवालों पर भड़के लालू, दे डाली गाली 

सलमान का जंग पर बड़ा बयान, पढ़िए क्‍या कहा

"नौकरी नहीं, दोषियों पर कार्रवाई चाहिए"

..तो मोदी के सामने झुक गए केजरीवाल!

झारखंड में अब एक रुपये में होगी रजिस्‍ट्री

राहुल को इतनी जल्‍दी नानी याद आ गईं

सुनिए नवाज़ शरीफ का जवाब..... 

ट्रम्प हुए 71 साल के,पद संभालते ही बन गए थे 

कहीं ये पाक सेना प्रमुख के आदेश तो नहीं...! 



" जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555 "


Loading...


Flicker News

Loading...

Most read news


Most read news


rising@8AM


Loading...