FIR Registered Against Singer Abhijeet Bhattacharya For Misbehavior From Woman

दि राइजिंग न्यूज़

नई दिल्ली।

 

तमिलनाडु की ई. पलानीस्वामी सरकार को बड़ी राहत मिली है। बीते साल एआइएडीएमके की पलानीस्वामी सरकार से समर्थन वापस लेने वाले टीटी दिनाकरण गुट के 18 विधायकों की किस्मत पर मद्रास हाईकोर्ट ने आज फैसला सुनाया। सुनवाई के दौरान दो जजों की बेंच के बीच इस मामले को लेकर सहमति नहीं बन पाई। जिसके कारण इस फैसले को अब तीन जजों की बेंच के हवाले कर दिया है।

तीन जजों की बेंच संभालेगी ये केस

चीफ जस्टिस इंदिरा बनर्जी ने केस को खारिज कर दिया। उन्होंने विधानसभा स्पीकर के फैसले को सही ठहराया। उन्होंने कहा कि स्पीकर के पास इसका अधिकार है। वहीं बेंच के दूसरे जज ने इसके उलट फैसला सुनाया। अब ये मामला तीन जजों की बेंच के पास चला गया है। यानी अभी के लिए पलानीस्वामी सरकार पर कोई खतरा नहीं है।

 

ये था मामला

गौरतलब है कि इन सभी विधायकों को विधानसभा स्पीकर ने अयोग्य करार दिया था, जिसके बाद इन्होंने मद्रास हाईकोर्ट में इसे चुनौती दी थी। फैसले से पहले मुख्यमंत्री पलानीस्वामी के घर पर बड़े नेताओं की बैठक चल रही थी। पलानीस्वामी को विश्वास है कि वह आसानी से बहुमत हासिल कर लेंगे। अगर फैसला AIADMK के खिलाफ जाता है तो उसपर भी बात की जा रही है। दूसरी ओर, दिनाकरण ने भी अपने 18 विधायकों की मीटिंग बुला ली है। दोपहर एक बजे तक सभी विधायक अब उनके घर में ही रुके।

क्या-क्या हो सकता था?

  • अगर कोर्ट स्पीकर के फैसले को गलत ठहराता है, तो विधानसभा में फ्लोर टेस्ट हो सकता है। इसमें ई। पलानीस्वामी को संख्या जुटाने में मुश्किल हो सकती है। कहा जा रहा है कि कुछ AIADMK विधायक अपना पाला बदल सकते हैं।

  • अगर कोर्ट स्पीकर के फैसले को सही ठहराता है, तो सभी 18 विधानसभाओं पर चुनाव हो सकता है।

  • अगर दो जजों की बेंच कोई फैसला नहीं निकाल पाती है तो ये केस तीन जजों के बेंच के पास जाएगा।

 

अभी क्या है तमिलनाडु विधानसभा की स्थिति?

  • कुल संख्या - 234

  • डीएमके - 98

  • टीटीवी दिनाकरण - 1+18 विधायक (जिनपर मद्रास हाईकोर्ट फैसला करेगा)

  • एआइएडीएमके - 114

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Public Poll