Actress Parineeti Chopra is also Going to Marry with Her Rumoured Boy Friend

दि राइजिंग न्यूज़

नई दिल्ली।

 

भारतीय एजेंसियां 13,500 करोड़ रुपये से ज्यादा के बैंक घोटाले के आरोपी मेहुल चोकसी के पीछे पड़ गई हैं। यही कारण है कि सीबीआई ने अमेरिका से भागकर एंटीगुआ पहुंचे चोकसी को लेकर वहां (एंटीगुआ) के अधिकारियों से भी बातचीत की है और उन्हें मेहुल चोकसी के कारनामों की जानकारी दी है।

 

सीबीआई ने मंगलवार को एंटीगुआ के अधिकारियों को पत्र लिखा है जिसमें मेहुल चोकसी के बारे में जानकारी मांगी गई है। साथ ही भारत ने एंटीगुआ को इस बात की जानकारी भी दी है कि मेहुल एक बैंक घोटालेबाज है और एजेंसियों ने इंटरपोल के समक्ष मेहुल चोकसी के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी करने का प्रस्ताव भी रखा है।

बता दें कि पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) से 13,500 करोड़ रुपये से ज्यादा की धोखाधड़ी का आरोपी और गीतांजलि समूह की कंपनियों का मालिक मेहुल चोकसी हफ्तों पहले एक स्थानीय पासपोर्ट का इस्तेमाल कर अमेरिका से कैरिबियाई देश एंटीगुआ पहुंच गया है। इसका खुलासा केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) द्वारा इंटरपोल के जरिए दूसरे देशों में प्रसारित नोटिस के जवाब में एंटीगुआ के अधिकारियों ने किया है।

 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मेहुल चोकसी बीते आठ जुलाई को यहां के वीसी बर्ड इंटरनेशल एयरपोर्ट पहुंचा है। जिसके एक दिन बाद ही भारतीय एजेंसियों ने अमेरिका से मेहुल चोकसी के प्रत्यर्पण की संभावनाओं पर चर्चा की थी।

जानकारी मिली है कि मेहुल चोकसी ने अमेरिका से एंटीगुआ जाने के लिए जेट ब्लू फ्लाइट का इस्तेमाल किया। दिलचस्प बात ये है कि मेहुल ने इस हवाई यात्रा के लिए भारतीय पासपोर्ट का इस्तेमाल नहीं किया है। एंटीगुआ के कानून के मुताबिक, अगर यहां कोई व्यक्ति 4 लाख अमेरिका डॉलर कीमत की प्रॉपर्टी खरीदता लेता है तो उसे वहां की नागरिकता मिल जाती है। इसके अलावा अगर कोई कारोबारी यहां 1.5 मिलियन अमेरिकी डॉलर का निवेश करता है तो वह भी एंटीगुआ की नागरिकता पा सकता है।

 

नियमों के मुताबिक, एक और बड़ी बात ये है कि पासपोर्ट हासिल करने के लिए वहां मौजूद होना जरूरी नहीं होता है। जिसके आधार पर यह कहा जा सकता है कि मेहुल चोकसी ने अपने फरार रहने के दौरान ही एंटीगुआ का पासपोर्ट हासिल कर लिया, जिसके बाद अब वह वहीं पहुंच गया है।

मेहुल चोकसी के एंटीगुआ पहुंचने के एक दिन बाद भारतीय जांच एजेंसियों ने अमेरिका से उसके प्रत्यर्पण की बात की थी। अमेरिकी एजेंसियों ने दावा किया था कि मेहुल वहां नहीं है।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement