Sonam Kapoor to Play Batwoman

दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।

 

गोरखपुर के बीआरडी (बाबा राघवदास मेडिकल कॉलेज) में 36 बच्चों की मौत से पूरा देश दु:खी है और इस पर यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आखिरकार अपनी चुप्पी तोड़ दी। शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करके योगी ने कहा कि ऑक्सीजन की कमी से मौत का मतलब एक जघन्य कृत्य है।

 

 

स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने एक एक बच्चे की मौत का ब्योरा दिया। हर साल के अगस्त के महीने में मौत के आंकड़ें गिनाए। मंत्री की नजर में अगस्त में बच्चे मरते ही हैं। उन्होंने कहा कि गैस सप्लाई रुकी थी लेकिन मौत गैस रुकने से नहीं हुई।

 

यह भी पढ़ें: फोटोज को बनाना था खूबसूरत पर हो गया ये काण्ड...

 

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि- मैं खुद दो बार बीआरडी कॉलेज गया था। योगी बोले कि मीडिया से कहना चाहता हूं कि तथ्यों को सही तरह से रखा जाए। आप सही आंकड़े देंगे तो ये मानवता की बड़ी सेवा होगी।

 

 

सूबे के मुख्यमंत्री ने बच्चों की मौत का मामला सामने आने के बाद एक हाईप्रोफाइल प्रेसवार्ता की जिसमें योगी आदित्यनाथ के साथ उनके मंत्री और केन्द्र से आयी स्वास्थ्य राज्य मंत्री अनुप्रिया पटेल भी थीं।

 

यह भी पढ़ें: ख़त्म हुई “बाजीराव-मस्तानी” की प्रेम कहानी

 

स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा था कि- मौत की वजह ऑक्सीजन की कमी नहीं है। स्वास्थ्य मंत्री ने 10 अगस्त को मरे बच्चों की मौत की वजह भी गिनायी। साथ ही कहा कि अगस्त में तो बच्चों की मौत होती ही है। योगी सरकार ने कहा कि मामले की जांच के लिए दो जांच गठित की गयी हैं। हालांकि मृतक के परिजन लगातार ऑक्सीजन की कमी से मौत का दावा कर रहे हैं।

 

 

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि- मैं आपसे कहना चाहता हूं कि तथ्यों को सही तरह से रखा जाए। अलग-अलग आंकड़े पब्लिश हुए हैं। योगी ने कहा कि चीफ कमेटी की अध्यक्षता में एक कमेटी गठित की है जो एक सप्ताह के अंदर रिपोर्ट देगी।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll