Crowd Rucuks At Sapna Chaudhary Program in Begusaray of Bihar

दि राइजिंग न्यूज़

अगरतला।

 

देश में मॉब लिंचिंग की वजह से विभिन्न राज्यों में 27 लोगों की जान जा चुकी है। जिसके बाद हरकत में आई केंद्र सरकार ने व्हाट्सऐप को नोटिस भेजा है और अफवाहों पर लगाम लगाने के लिए जरूरी कदम उठाने के लिए कहा है। इसी बीच त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब देब का बयान सामने आया है।

 

खुश हैं बिप्लब देब

सीएम देब से जब राज्य में घटित हुई हिंसक घटनाओं के बारे में सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा, “त्रिपुरा में इस समय खुशी की लहर चल रही है और आपको भी उसका आनंद उठाना चाहिए। आपको भी खुश रहना चाहिए। मेरे चेहरे की तरफ देखिए मैं बहुत खुश हूं।” बता दें कि पिछले आठ दिनों में त्रिपुरा के अंदर तीन लोगों की मौत हो चुकी है। सभी को भीड़ ने बच्चा चोरी के शक में पीट-पीटकर मार दिया था।

मॉब लिंचिंग की घटनाएं

सरकार द्वारा अफवाहों को फैलने से रोकने के लिए काम पर रखी गईं महिला पर भीड़ ने 28 जून को उस समय हमला कर दिया जब वह कलाचेरा में अभियान चला रही थीं। उत्तर प्रदेश के रहने वाले एक कपड़ा व्यापारी को भी उसी दिन पश्चिमी त्रिपुरा जिले में बच्चों के अपहरणकर्ता के शक में मार दिया गया था। एक और महिला जिसकी पहचान नहीं हो पाई है उसे भी बच्चा चोरी के शक में सोपाहिजाला जिले के बिशलगढ़ में मौत के घाट उतार दिया गया था।

 

कैबिनेट ने किया बचाव

हालांकि त्रिपुरा सरकार ने बाद में दावा किया कि मुख्यमंत्री की बातों को गलत समझा गया। गुरुवार शाम को जारी किए गए बयान में कहा गया कि देब ने वह बातें अगरतला के एयरपोर्ट का नाम बदलने के मौके पर कहीं थीं। अगरतला के एयरपोर्ट का नाम आखिरी राजा के नाम पर महाराजा बीर बिक्रम माणिक्य किशोर एयरपोर्ट कर दिया गया है। सूचना और सांस्कृतिक निदेशालय ने बयान में कहा कि दुर्भाग्य से मुख्यमंत्री के बयान को गलत तरीके से उग्र भीड़ द्वारा की गई हत्या से जोड़ दिया गया। जो उन्होंने एयरपोर्ट का नाम बदले जाने के मौके पर कही थीं।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement