Home Top News Shaheed Bhagat Singh Last Words Before Hanged

छत्‍तीसगढ़: सुरक्षाबलों ने 9 नक्‍सलियों को गिरफ्तार किया

आसाराम केस: गृह मंत्रालय ने राजस्थान, गुजरात और हरियाणा को जारी की एडवाइजरी

कास्‍टिंग काउच पर रणबीर कपूर ने कहा- मैंने कभी इसका सामना नहीं किया

कर्नाटक चुनाव: सिद्धारमैया ने किया नामांकन दाखिल

तेलंगाना: जीडीमेटला इलाके के गोदाम में लगी आग

शहादत से पहले भगत सिंह का अंतिम खत, पढ़कर नम हो जाएंगी आंखें

Home | Last Updated : Mar 22, 2018 05:14 PM IST
   
Shaheed Bhagat Singh Last Words before Hanged

दि राइजिंग न्‍यूज

आउटपुट डेस्‍क।

 

शहीद-ए-आजम भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव ने देश के लिए हंसते-हंसते फांसी को गले लगा लिया था। 23 मार्च 1931 को जब लाहौर में उन्हें फांसी दी गई तो वह उस वक्त मुस्कुरा रहे थे। भगत सिंह और बाकी शहीदों को फांसी दिए जाने के वक्त लाहौर जेल में बंद सभी कैदियों की आंखें नम हो गईं थीं। यहां तक कि जेल के अधिकारी और कर्मचारी तक के हाथ भी कांप गए थे। जेल के नियम के अनुसार, फांसी से पहले इन तीनों देश भक्तों को नहलाया गया था फिर इन्हें नए कपड़े पहनाकर जल्लाद के सामने लाया गया और फांसी दी गई।

23 मार्च 1931 को इस क्रांतिकरी की पुण्यतिथि पर देश उन्हें याद कर रहा है। देश के लिए अपनी जान देने वाले क्रांतिकारी की पुण्यतिथि के मौके पर हम आपको बताने जा रहे हैं भगत सिंह के आखिरी खत के बारे में जो उन्होंने लाहौर में फांसी दिए जाने से ठीक एक दिन पहले लिखा था। भगत सिंह 23 मार्च 1931 की उस शाम के लिए लंबे अरसे से बेसब्र थे और एक दिन पहले यानी 22 मार्च 1931 को अपने आखिरी पत्र में उन्होंने इस बात का ज़िक्र भी किया था। 


" जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555 "


Loading...


Flicker News

Loading...

Most read news


Most read news


rising@8AM


Loading...






खबरें आपके काम की