Baaghi 2 Assistant Director Name Came in Physical Assault

दि राइजिंग न्‍यूज

नई दिल्‍ली।

 

पीएनबी (पंजाब नेशनल बैंक) में हुए 11360 करोड़ रुपये के ट्रांजैक्शन घोटाला मामला अब सियासी रूप लेता जा रहा है। आज कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर नीरव मोदी मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। राहुल गांधी ने दावा किया है कि नीरव मोदी को पीएम मोदी के साथ दावोस में देखा गया था।

राहुल ने ट्विटर पर लिखा कि भारत को लूटने का तरीका नीरव मोदी ने समझाया है। सबसे पहले नरेंद्र मोदी को गले मिलो, दावोस में पीएम मोदी के साथ भी दिखो। राहुल ने लिखा कि देश के 12000 करोड़ रुपए चुराओ और विजय माल्या की तरह देश से पैसे लेकर भाग जाओ।

कांग्रेस अध्यक्ष ने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि इस दौरान सरकार सिर्फ मुंह देखती रह गई। राहुल ने अपने ट्वीट में एक हैशटैग का इस्तेमाल किया, जिसमें लिखा है #From1MODI2another यानी एक मोदी से दूसरे मोदी तक की कहानी।

कांग्रेस पार्टी ने भी साधा निशाना

कांग्रेस इस घोटाले के लिए मोदी सरकार को जिम्मेदार बता रही है और उनसे सफाई देने की मांग की है। इस संबंध में कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने भी ट्वीट कर कई आरोप लगाए हैं।

सुरजेवाला ने ट्वीट कर पूछा कि आरोपी नीरव मोदी कौन हैं? क्या यह नया #ModiScam है? क्या उसे भी ललित मोदी और विजय माल्या की ही तरह सरकार के अंदर से किसी आदमी ने सूचना दी थी ताकि कार्रवाई होने से पहले वह विदेश भाग जाए? क्या यह नियम बन गया है कि आरोपियों को जनता के पैसे के साथ भागने दिया जाए? सुरजेवाला ने ट्वीट कर पूछा कि इसके लिए कौन जिम्मेदार है?

सुरजेवाला ने कहा कि लूटो और भाग जाओ, मोदी सरकार और बीजेपी का चाल है। उन्होंने कहा कि  ललित मोदी, विजय मालया सरकार के नाक के नीचे से भाग गए और सरकार कुछ नहीं कर पाई।

 

कांग्रेस नेता ने कहा कि नीरव मोदी पर केस दर्ज होता है, लेकिन प्रधानमंत्री कार्यालय ने कुछ नहीं जानकारी होने के बावजूद किया। उन्होंने कहा कि हिंदुस्तान का सबसे बड़ा बैंक लूट घोटाला का खुलासा पिछले 24 घंटे में हुआ है, जिसमें कई बैंकों का पैसा भी डूब गया है।

14 फरवरी, 2018 की पंजाब नेशनल बैंक ने सेबी को दी जानकारी में माना कि 11 हज़ार 400 करोड़ का घोटाला हुआ है, सभी बैंकों की राशि को जोड़ दिया जाए तो 30 हज़ार करोड़ का घोटाला होगा। यह आज़ादी के बाद देश का सबसे बड़ा बैंक लूट घोटाला है। उन्होंने कहा कि नीरव मोदी छोटा मोदी है।

प्रधानमंत्री से पूछे पांच सवाल-

  • फर्जी लेटर ऑफ अंडरस्टैंडिंग के आधार पर बैंकिंग सिस्टम के साथ खिलवाड़ कैसे?

  • घोटाले के बारे में 26 जुलाई, 2016 को प्रधानमंत्री कार्यालय और प्रधानमंत्री को जानकारी दी गई, लेकिन सरकार ने कोई कार्रवाई क्यों नहीं की गई?

  • 29 जनवरी, 2018 को सीबीआइ को पीएनबी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने पत्र लिखकर कहा की नीरव मोदी पर कार्रवाई के लिए और देश छोड़ने की आशंका जताई, लेकिन नीरव मोदी भाग कैसे गए?

  • नीरव मोदी को सरकार के अंदर से कौन संरक्षण दे रहा है? पूरा सिस्टम बायपास कैसे हो गया?

  • बैंकिंग सिस्टम को कैसे धोखा देते हुए नीरव मोदी, मोदी सरकार के नीचे से घोटाले को अंजाम देने में कामयाब हुए?
     

नीरव मोदी के खिलाफ एफआइआर दर्ज

इस मामले में अरबपति ज्वैलरी कारोबारी नीरव मोदी के खिलाफ एफआईआर दर्ज हो गई है। मामले में ईडी ने देशभर में कई जगह छापेमारी भी की है। छापेमारी के बाद सीबीआइ ने मुंबई के हाजी अली दरगाह के पास वर्ली में स्थित नीरव मोदी का घर भी सील कर दिया है।

नीरव मोदी ने PNB को खत लिख कहा है कि वह सभी पैसे लौटाने को तैयार हैं। उन्होंने इसके लिए छह महीने का समय मांगा है। उन्होंने कहा है कि वह फायर स्टार डायमंड्स के जरिए पैसे लौटा दूंगा, जिसकी कीमत 6400 करोड़ रुपए है।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement