Salman Khan Did Flirt With School Teacher

दि राइजिंग न्यूज़

बंगलुरु।

 

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कर्नाटक में कारोबारियों से बात करते हुए एक बार फिर भाजपा सरकार की आर्थिक नीतियों को चुनौती दी। राहुल ने कहा कि एनडीए सरकार देश में नौकरी के संशाधन पैदा करने में पूरी तरफ से विफल रही है। हालांकि राहुल ने माना कि यूपीए सरकार के कार्यकाल में भी नई नौकरी पैदा करने की रफ्तार बेहद सुस्त थी लेकिन उनके मुताबिक मोदी सरकार ने इस क्षेत्र में विफलता के सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं।

जुमला साबित हुआ लाखों नौकरी का वादा 

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, जहां पड़ोसी देश चीन एक दिन में 50 हजार नौकरियां पैदा कर रहा है वहीं मोदी सरकार एक दिन में महज 400 नौकरियां ही दे पाने में समर्थ है। राहुल ने कहा कि मोदी सरकार ने ऐसे समय में कार्यभार संभाला जब आर्थिक ग्रोथ के हिसाब से भारतीय अर्थव्यवस्था बेहद मजबूत थी लिहाजा ऐसे समय में भी नई नौकरी पैदा न कर पाना सरकार की विफलता को और गंभीर कर देती है।

 

जीएसटी पर नहीं मानी मनमोहन की सलाह

मोदी सरकार द्वारा जीएसटी के फैसले को एक बार फिर गब्बर सिंह टैक्स करार देते हुए राहुल ने कर्नाटक में कारोबारियों को समझाया कि क्यों वह जीएसटी को यह तमगा देते हैं। राहुल ने दावा किया कि जीएसटी लागू होने से पहले कांग्रेस पार्टी की तरफ से पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने वित्त मंत्री अरुण जेटली से बात की थी। इस बातचीत में मनमोहन सिंह ने जेटली से जीएसटी लागू करने से पहले एक पायलट प्रोजेक्ट चलाने की बात कही थी जिससे नए टैक्स नियमों को परखा जा सके लेकिन पूर्व प्रधानमंत्री और अर्थशास्त्री सिंह के इस सुझाव को जेटली ने नजदरअंदाज करते हुए जवाब दिया कि प्रधानमंत्री मोदी जीएसटी लागू करने का फैसला ले चुके हैं।

2019 में कांग्रेस सरकार तो बदलेगा जीएसटी?

राहुल ने कहा कि कांग्रेस चाहती थी कि पूरे देश में सिर्फ 18 फीसदी के टैक्स के साथ एक टियर जीएसटी लागू किया जाए और आम आदमी के जरूरत की ज्यादातर उत्पादों पर शून्य जीएसटी लगाया जाए। लेकिन मोदी सरकार ने 5 टियर जीएसटी लगाते हुए देश में कारोबार करना बेहद कठिन कर दिया। राहुल ने कारोबारियों से वादा किया कि यदि 2019 में केन्द्र की सत्ता में कांग्रेस वापसी करती है तो वह जीएसटी को दुरुस्त करने के लिए कड़े फैसले ले सकती है।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Public Poll