Happy And Not Happy Bollywood Actors For Ranveer Deepika Marriage

दि राइजिंग न्यूज़

जौनपुर/वाराणसी

 

जौनपुर का वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्विद्यालय एक बार फिर लाइमलाइट में आ गया है ऐसा इसलिए क्योंकि विवि प्रशासन पर पूर्व कुलसचिव स्व. देवराज को मारने का आरोप लगा है विवि प्रशासन पर ये सनसनीखेज़ आरोप पूर्व कुलसचिव की बेटी स्मृत राज ने लगाये हैं दरअसल, स्मृत राज ने सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर एक पत्र और वीडियो वायरल किया है जिससे विवि प्रशासन सवालों के घेरे में आ गया है पत्र में स्मृत राज ने आरोप लगाया है कि उनके पिता की मौत के लिए विवि प्रशासन जिम्मेदार है।

 

साजिश रची जा रही थी स्व. कुलसचिव के खिलाफ!    

इस पत्र में स्मृत राज ने आरोप लगाया है कि प्रशासन ने साजिश में फंसाकर उनके पिता को निलंबित कर दिया था। इसी कारण वे डिप्रेशन में चले गये और उनकी मौत हो गई। इस दौरान परिसर स्थित सरकारी आवास में तीन बार चोरियों का प्रयास किया गया। सामानों को तितर-बितर किया गया। हर बार थाना सराय ख्वाजा को तहरीर दी गई,लेकिन मामले की जांच नही हुई। उन्होंने पत्र में आरोप लगाया है कि विवि प्रशासन के दबाव के कारण पुलिस ने मामले में कोई तफ्तीश नहीं की।

इनपर भी लटकी तलवार

स्व. कुलसचिव की पुत्री स्मृत राज ने विवि कुलपति प्रो.राजाराम यादव, उपकुलसचिव संजीव सिंह को अपने पिता की मौत के लिए जिम्मेदार ठहराया है। उनका आरोप है कि ये लोग भ्रष्टाचार में लिप्त हैं। इनसब का सबूत उनके पिता के पास थे। उसे पाने के लिए उन्हें इतना प्रताडि़त किया गया। उन्होंने पत्र में लिखा कि सुरक्षा गार्ड होने का बावजूद उनके सरकारी आवास में तीन बार चोरी हुई। चोर सिर्फ अभिलेखों को बिखेरकर चले गए। इससे साफ है कि उन्हें केवल भ्रष्टाचार के अभिलेखों की तलाश रहती है।

 

सुरक्षा की लगाई गुहार

स्मृत राज ने अपने पत्र में लिखा है कि उनके परिवार को विवि के सुरक्षाकर्मियों से खतरा है। उन्होंने आशंका जताई है कि  उन लोगों के साथ कभी भी अनहोनी हो सकती है। उन्होंने पुलिस अधीक्षक से पूरे मामले की जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने की गुहार लगायी है।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement