Home Top News President Election Will Bee On Seventeen July

पाकिस्तान विदेश मंत्रालयः भारत को नहीं सौंपा जाएगा कुलभूषण जाधव

पाकिस्तान से आतंकियों की घुसपैठ रुकना जरुरी-सेना प्रमुख

कर्नाटकः विधानसभा में फ्लोर टेस्ट, CM ने पेश किया अविश्वास प्रस्ताव

बिपिन रावत-मेजर लितुल गोगोई ने अगर गलती की है तो सेना सख्त कार्रवाई करेगी

येदियुरप्पाः हमने स्पीकर पद की मर्यादा के लिए अपना उम्मीदवार हटाया

राष्ट्रपति चुनाव 17 जुलाई को

Home | Last Updated : Jun 20, 2017 04:20 PM IST

  • 20 जुलाई को होगी गिनती   


president election will bee on seventeen july


दि राइजिंग न्यूज़

नई दिल्ली


देश भर में राष्ट्रपति के चुनाव को लेकर सरगर्मी तेज़ हो गई हैं। इसी बीच आज केंद्रीय चुनाव आयोग  ने इसकी डेट का ऐलान कर दिया है। आयोग के मुताबिक, चुनाव 17 जुलाई को होंगे और वोटों की गिनती 20 जुलाई को होगी। चुनाव आयोग ने यह भी बताया है कि चुनाव से नाम वापस लेने की आखिरी तारिख एक जुलाई है।


गौरतलब है कि, मौजूदा राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का कार्यकाल अगले महीने खत्म हो रहा है और अगले राष्ट्रपति का शपथ ग्रहण 25 जुलाई को होना है। इसके साथ ही देश के 14वें राष्ट्रपति को चुना जाएगा।


इसे लेकर सत्ता पक्ष और विपक्ष ने कई बैठकें की हैं, लेकिन दोनों ने अपने-अपने उम्मीदवारों का एलान नहीं किया है। विपक्ष एक साझा उम्मीदवार को लेकर मशक्कत कर रहा है।


देश की सभी विधानसभाओं, विधान परिषदों और संसद के दोनों सदनों के सदस्यों के आंकड़े को देखते हुए सत्ताधारी बीजेपी के पास राष्ट्रपति के अपने उम्मीदवार को जीताने के लिए पर्याप्त वोट हैं।


आपको बताते चलें कि राष्ट्रपति का चुनाव अप्रत्यक्ष मतदान से होता है। देश के सभी राज्यों की विधान सभा, विधान परिषद और संसद के दोनों सदनों के सभी सदस्य राष्ट्रपति के चुनाव में हिस्सा लेते हैं।


कैसे होता है राष्ट्रपति चुनाव


राष्ट्रपति का चुनाव 5 सालों में एक बार होता है और अगर देखा जाये तो सामान्य परिस्थितियों में आमतौर पर ये चुनाव जुलाई के महीने में होते हैं।


राष्ट्रपति में आम जनता वोट नहीं डालती है, जनता की जगह उसके प्रतिनिधि वोट डालते हैं यानि ये सीधे नहीं बल्कि अप्रत्यक्ष चुनाव हैं। राष्ट्रपति को राज्यों के चुने हुए प्रतिनिधि यानि विधायक, लोकसभा और राज्यसभा के सांसद चुनते हैं। राज्यसभा, लोकसभा विधानसभा के मनोनीत सांसद और विधायक राष्ट्रपति चुनाव में वोट नहीं डालते हैं। राष्ट्रपति का चुनाव एक इलेक्टोरल कॉलेज करता है, इसके सदस्यों का प्रतिनिधित्व वेटेज होता है।


यह भी पढ़ें

इतिहास रचेगा भारत, लॉन्‍च हुआ GSLV मार्क-3

आतंकवाद बढ़ा रहा कतर, सारे संबंध खत्‍म

बिहारी खुद ही अपनी नाक कटवा रहे हैं

कुछ इस तरह सोशल मीडिया पर उड़ी पाक की खिल्ली 

...तो इसलिए हार गया पाकिस्‍तान 

दिल टूटना जिंदगी का सबसे बड़ा सबक है



" जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555 "


Loading...


Flicker News

Loading...

Most read news


Most read news


rising@8AM


Loading...