Updates on Priyanka Chopra and Nick Jones Roka Ceremony

दि राइजिंग न्‍यूज

नई दिल्‍ली।

 

सोमवार देर शाम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स में रूटीन चेकअप के लिए लाए गए पूर्व प्रधानमंत्री अटल विहारी वाजपेयी का हाल जानने पहुंचे। प्रधानमंत्री मोदी ने करीब 50 मिनट तक पूर्व प्रधानमंत्री के स्वास्थ्य की जानकारी ली। बता दें कि वाजपेयी को सोमवार दोहपर एम्स लाया गया था जहां उनकी हालत स्थिर बताई जा रही है।

 

 

रात करीब नौ बजे जारी हुई मेडिकल रिपोर्ट में बताया गया कि उनके टेस्ट से जुड़ी सभी रिपोर्टें नॉर्मल हैं। रिपोर्ट में बताया गया कि उन्हें डायलिसिस हुआ है बुखार नहीं। इसके साथ ही उनके यूरिन में संक्रमण है।

राहुल गांधी भी पहुंचे एम्स

वाजपेयी का हाल जानने वालों में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी शामिल हैं। एम्स पहुंचने वालों में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के अन्य पार्टी के अन्य नेता भी पहुंचे। वाजपेयी का इलाज कर रहे डाक्टरों की टीम ने प्रधानमंत्री को उनके स्वास्थ्य की जानकारी दी।     

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी एक ओर दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में भाजपा सरकार के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ ताल ठोंक रहे थे।

वहीं, इसी बीच जैसे ही उन्हें पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में भर्ती किए जाने की सूचना मिली शाम को उन्हें देखने पहुंच गए। राहुल शाम को एम्स पहुंचे और वाजपेयी के इलाज में शामिल डाक्टरों से उनका हाल जाना।

वहीं, भाजपा के वरिष्ठ नेता एल के आडवाणी और केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी का हालचाल जानने एम्स पहुंचे।

 

 

एक दिन अस्पताल में गुजारने की सलाह

डॉक्टरों के अनुसार कुछ मेडिकल जांच कराने को बाद पूर्व पीएम को एक दिन के लिए अस्पताल में रोका है। एम्स का कहना है कि यह एक रूटीन प्रक्रिया है। जबकि सूत्रों का कहना है कि मेडिकल जांच के दौरान पूर्व पीएम वाजपेयी में कमजोरी ज्यादा देखने को मिली है।

एम्स निदेशक डॉ रणदीप गुलेरिया की निगरानी में करीब बारह डॉक्टरों की टीम वाजपेयी के इलाज में जुट गई है। फिलहाल वे एम्स के निजी वार्ड में भर्ती हैं।

एम्स के एक वरिष्ठ डॉक्टर ने बताया कि पूर्व पीएम की उम्र और बीमारी दोनों की वजह से वीकनेस हो सकती है, इसमें कोई दोराय नहीं। हालांकि उन्होंने ये भी जानकारी दी है कि मंगलवार शाम तक वाजपेयी को डिस्चॉर्ज किया जा सकता है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जगत प्रकाश नड्डा का कहना है कि पूर्व पीएम का स्वास्थ्य पहले से बेहतर है। उन्होंने देशवासियों से अपील की है कि वाजपेयी की तबियत को लेकर किसी भी तरह परेशान न हों। ये एक रूटीन प्रक्रिया है, जिसके तहत एम्स के डॉक्टर उपचार दे रहे हैं। चिंता की कोई बात नहीं है।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Public Poll