Home News Play Koi Hai In Bali Auditorium

UP: गोरखपुर में शिक्षामित्रों और पुलिस के बीच झड़प

आंध्र प्रदेश के CM चंद्रबाबू नायडू ने शटलर PV सिंधू को ग्रुप-1 ऑफिसर नियुक्त किया

हरमनप्रीत और मिताली राज को रेलवे में मिलेंगे राजपत्रित अधिकारी के पद

गुजरात कांग्रेस के MLAs बलवंत सिंह और तेजश्री पटेल ने पार्टी से दिया इस्तीफा

रेलवे ने भारतीय महिला क्रिकेट टीम की 10 खिलाड़ियों को 1.30 करोड़ नकद देने की घोषणा की

Trending :   #Hot_Photoshot   #Sports   #Politics   #Hollywood   #Bollywood

“कोई है” में उठी भ्रष्‍टाचार के खिलाफ आवाज

Events Lucknow | 10-Jan-2017 07:10:04 PM            

  • बली प्रेक्षागृह में रंगयात्रा नाट्य समारोह की ओर से मंचित नाटक


play koi hai in bali auditorium

दि राइजिंग न्‍यूज

10 जनवरी, लखनऊ।

मंगलवार को राय उमानाथ बली प्रेक्षागृह में ऐसे नाटक का मंचन हुआ जिसने दर्शकों को भ्रष्टाचार रोकने के साथ साथ हराम का पैसा न कमाने की हिदायत दे डाली। रंगयात्रा नाट्य समारोह में प्रतीक्षा रंगमण्डल ने नाटक कोई है का मंचन किया। प्रदीप तिवारी के लिखी कहानी को विनोद मिश्रा के रूपांतरण और विवेक मिश्रा विष्णु के निर्देशन में पेश किया।



नाटक की कहानी प्रशासन के एक आला अधिकारी मिस्टर सिन्हा और उनकी पत्नी कोमल के इर्द घूमती है। मिस्टर सिन्हा ने भ्रष्टाचार करके पैसे तो खूब कमाये, लेकिन विवाह के कई साल गुजर जाने के बाद भी संतान नहीं पा सके। इस कारण पति पत्नी के बीच झगड़े भी होने लगे। इसी बीच उनको एक ऐसे बाबा के बारे में पता चलता है, जिसके दर पर जाने से खाली हाथ नहीं लौटते। मिस्टर सिन्हा और उनकी पत्नी कोमल एक ठेकेदार के कहने पर उस बाबा के पास जाते हैं और कई बार पूजा करने के बाद भी उन्हें कोई फायदा नहीं होता। दोनों पति पत्नी बाबा से फायदा न मिलने पर बाबा से नाराज होकर उन्हें बुरा भला कहने लगते हैं।



मगर ठेकेदार के कहने पर अंतिम बार बाबा के पास जाते है जहां बाबा कहते हैं कि आज तक उनकी पूजा का असर इसलिए नहीं हुआ क्योंकि पूजा के जिए जो प्रसाद आता है वो भ्रष्ट तरीके से कमाया हुआ है और ठेकेदार के पैसों से आया है। पता लगता है कि पूजा का सारा फायदा ठेकेदार को हो रहा है, यह सुनते ही मिस्टर सिन्हा की आंखे खुल जाती हैं और वो ईमानदारी से काम करने की कसम खा लेते हैं। नाटक का अंत ईमानदारी और किसी का हक न मारने के संदेश के साथ होता है। नाटक में शुभम पाण्डेय, तान्या सूरी, जीतेन्द्र मिश्रा, योगेश, राज शुक्ला, सौम्या और सुषमा ने दमदार अभिनय किया।

 

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

HTML Comment Box is loading comments...
Content is loading...

 

संबंधित खबरें


international-statement-on-kulbhushan-jadhav-case

 

Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll

 

 

Rising Newsletter Newsletter

 

 

Flicker News


Most read news

 

Most read news

 

Most read news

उत्तर प्रदेश

खबर आपके शहर की