Home Top News P Chidambaram Slams Modi Government On Kashmir Issue

चेन्नई: पत्रकारों ने बीजेपी कार्यालय के बाहर किया विरोध प्रदर्शन

मुंबई: ब्रीच कैंडी अस्पताल के पास एक दुकान में लगी आग

कर्नाटक के गृहमंत्री रामालिंगा रेड्डी ने किया नामांकन दाखिल

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने हथियारों के साथ 3 लोगों को किया गिरफ्तार

11.71 अंक गिरकर 34415 पर बंद हुआ सेंसेक्स, निफ्टी 10564 पर बंद

मोदी सरकार को कश्मीर नीति बदलने की जरूरत…

Home | 07-Jan-2018 12:55:56 | Posted by - Admin
  • चिदंबरम ने गिनाए शहादत के आंकड़े
   
P Chidambaram Slams Modi Government on Kashmir Issue

दि राइजिंग न्‍यूज

नई दिल्‍ली।

 

वरिष्ठ कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम ने जम्मू-कश्मीर के मामले पर मोदी सरकार के रुख पर सवाल उठाया है। चिदंबरम ने कश्मीर में कठोर सैन्य कार्रवाई के बाद भी हालात बेहतर ना होने को लेकर मोदी सरकार पर हमला बोला है।

 

 

कांग्रेस नेता ने नए साल से पहले पुलवामा में सीआरपीएफ कैंप पर आतंकी हमले का हवाला देते हुए कहा कि समय-समय पर हमें बड़ी निर्ममता से ये याद दिलाया जाता है कि जम्मू-कश्मीर राज्य से भी जुड़ा एक मुद्दा है।

 

पी. चिदंबरम ने ट्वीट किया, इस तरह का वाकया 30-31 दिसंबर, 2017 की रात को हुआ, जब आतंकियों ने पुलवामा जिले के लेथपोरा स्थित सीआरपीएफ ट्रेनिंग सेंटर पर हमला किया, जिसमें सीआरपीएफ के पांच जवान शहीद हुए और तीन घायल हो गए। गुजरात चुनाव से पहले सरकार ने दिनेश्वर शर्मा को जम्मू-कश्मीर का विशेष प्रतिनिधि नियुक्त किया, लेकिन ये स्पष्ट नहीं किया गया कि उनसे क्या करने को कहा गया है।

 

 

चिदंबरम के मुताबिक इसके बाद ये बताया गया कि दिनेश्वर शर्मा उन सभी से बातचीत के लिए तैयार हैं, जो उनसे मिलने के इच्छुक है। उन्‍होंने सवाल किया, ये दावा किया गया था कि कठोर और सख्त सैन्य गतिविधियों से घुसपैठ और आतंक का खात्मा होगा, क्या ऐसा हुआ?

 

कांग्रेस नेता के मुताबिक बुद्धिमानी इसमें होगी कि सक्रिय तौर पर जम्मू-कश्मीर मसले का राजनीतिक हल निकाला जाए। कश्मीर मसले का समाधान निकालने के लिए अटल बिहारी वाजपेयी और डॉक्टर मनमोहन सिंह के कोशिशों को याद किया जाएगा। सभी पक्षों से बातचीत के जरिए ही आगे का रास्ता निकाला जा सकता है।

 

 

उन्‍होंने कहा है कि अभी भी सब कुछ नहीं खत्म हुआ है और वे सभी वार्ताकारों के विचारों का समर्थन करते हैं, पर ये कदम एक समग्र एजेंडे का हिस्सा होना चाहिए। चिदंबरम ने एक टेबल का हवाला देते हुए सरकार कि वर्तमान नीति पर सवाल उठाया है। चिदंबरम ने पूछा है कि क्या मोदी सरकार की कठोर और सैन्यवादी नीति को मौका मिलना चाहिए।

 

(फोटो- चिदंबरम के ट्वीट से आकंड़ें)

 

वहीं बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा राव ने कश्मीर पर चिदंबरम के विचार को आपदा बताया है। राव ने कहा कि हमारी सेना बेहतरीन काम कर रही है, उसका समर्थन करिए, ना कि पाकिस्तान के भारत विरोधी एजेंडे को आगे बढ़ाइए। बीजेपी प्रवक्ता ने सवाल किया है कि क्या कभी कांग्रेस नेताओं ने हमारे सैनिकों को मारने वाले पाकिस्तान की आलोचना की है।

नरसिम्हा ने आरोप लगाया कि पाकिस्तान पर हमला करने की बजाए कांग्रेस नेता पाकिस्तान के साथ डिनर करते हैं, हाफिज सईद की रिहाई पर खुश होते हैं और जवानों के लिए फर्जी चिंता का दिखावा करते हैं।

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555








TraffBoost.NET

Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll

Merchants-Views-on-Yogi-Government-One-Year-Completion




Flicker News

Most read news

 


Most read news


Most read news