Watch Making of Dilbar Song From Satyameva Jayate

दि राइजिंग न्‍यूज

मुंबई।  

 

केंद्र सरकार में मंत्री नितिन गडकरी ने गुरुवार को नौसेना को लेकर शर्मनाक बयान दिया है। उन्‍होंने कहा कि नौसेना को आवास बनाने के लिए दक्षिण मुंबई में एक इंच भी जमीन नहीं दी जाएगी। उन्होंने कहा कि नौसेना के सभी अधिकारियों को आलीशान दक्षिण मुंबई इलाके में रहने की जरूरत क्यों आन पड़ी है जबकि उन्हें पाकिस्तान सीमा पर होना चाहिए।

गडकरी ने दक्षिण मुंबई के मालाबार हिल में एक तैरते पुल की योजना पर नौसेना के विरोध पर निराशा प्रकट करते हुए यह बात कही। यहां एक तैरता होटल और सीप्लेन सेवा शुरू करने की योजना है।

 

 

गडकरी ने कहा, यहां पश्चिमी नौसैनिक कमान के प्रमुख वाइस एडमिरल गिरीश लूथरा की मौजूदगी में मुंबई में एक सार्वजनिक समारोह में यह बात कही।

उन्‍होंने कहा, दरअसल नौसेना की जरूरत सीमाओं पर है जहां से आतंकवादी घुसपैठ करते हैं। हर कोई (नौसेना में) दक्षिण मुंबई में क्यों रहना चाहता है? वे मेरे पास आए थे और भूखंड मांग रहे थे। मैं एक इंच भी जमीन नहीं दूंगा। कृपया दोबारा मेरे पास नहीं आइए।

 

केंद्रीय मंत्री ने कहा, सभी दक्षिण मुंबई की अहम जमीन पर क्वार्टर और फ्लैट बनवाना चाहते हैं। हम आपका (नौसेना का) सम्मान करते हैं, लेकिन आपको पाकिस्तान सीमा पर जाना चाहिए और गश्त करनी चाहिए। उन्‍होंने कहा कि कुछ महत्वपूर्ण और वरिष्ठ अफसर मुंबई में रह सकते हैं। समुद्र के पूर्वी किनारे पर राज्य सरकार द्वारा संचालित मुंबई बंदरगाह ट्रस्ट और महाराष्ट्र सरकार द्वारा संयुक्त रूप से विकसित की जा रही जमीन का इस्तेमाल स्थानीय नागरिकों के लाभ के लिए ही किया जाएगा।

 

 

उन्‍होंने कहा, दक्षिण मुंबई में नौसेना की अच्छी खासी मौजूदगी है और इस इलाके में पश्चिमी नौसैनिक कमान का मुख्यालय है। दक्षिण मुंबई के ही कोलाबा स्थित नेवी नगर में नौसेना के आवासीय क्वार्टर हैं।

 

गडकरी ने कहा, मैंने सुना कि आपने (नौसेना ने) मालाबार हिल पर तैरते पुल (फ्लोटिंग जेटी) के निर्माण की योजना पर रोक लगा दी। जबकि उच्च न्यायालय से इसे मंजूरी मिल गयी है। उन्होंने दावा किया कि इस तरह की विकास परियोजनाओं को रोकना आदत बन गयी है। गडकरी ने कहा कि नौसेना को मालाबार हिल इलाके से क्या लेनादेना जो मुख्य रूप से एक निजी आवासी क्षेत्र हे और जहां महाराष्ट्र सरकार के तथा मुख्यमंत्री के सरकारी आवासी भी हैं।

 

 

उन्‍होंने आगे कहा, मालाबार हिल में नौसेना कहां है? मालाबार हिल में कहीं नौसेना नहीं है और नौसेना को इस इलाके से कोई लेनादेना नहीं है। केंद्रीय मंत्री ने नौसेना को मुद्दे का हल निकालने के लिए बातचीत का न्योता दिया। उन्होंने कहा कि वह रुकी हुई बुनियादी ढांचे की परियोजनाओं के लिए समिति के अध्यक्ष हैं। परियोजनाएं जैसे ही एजेंडे में आती हैं, उन्हें मंजूरी मिल जाती है। गडकरी ने कहा, हम सरकार हैं। नौसेना और रक्षा मंत्रालय सरकार नहीं हैं।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll