Sanjay Dutt invited Ranbir and Alia For Dinner

दि राइजिंग न्यूज़

नई दिल्ली।

 

भाजपा में डेब्यू करते ही विवादों में पड़े नरेश अग्रवाल ने अपने बयान पर खेद जताया है। मंगलवार सुबह मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि अगर मेरी किसी बात से किसी को ठेस पहुंची है तो मैं खेद व्यक्त करता हूं। इस दौरान जब पत्रकार ने पूछा कि क्या आप बयान पर माफी मांगेंगे तो उन्होंने कहा कि क्या आप खेद शब्द का मतलब समझते हैं।

 

नरेश अग्रवाल ने कहा कि मैं भी हिंदू हूं और कोई भी हिंदू राम मंदिर बनने का विरोध नहीं करता है। मैं नई पारी की शुरुआत कर रहा हूं किसी भी तरह के विवाद में नहीं पड़ना चाहता हूं।

आपको बता दें कि सोमवार को समाजवादी पार्टी को छोड़कर नरेश अग्रवाल बीजेपी में शामिल हुए। इसी दौरान उन्होंने कहा कि डांस करने वालों की वजह से सपा में मेरा राज्यसभा का टिकट काटा गया। उनके इस बयान से पार्टी के लिए कुछ देर के लिए असहज स्थिति हो गई। नरेश अग्रवाल के इस बयान के बाद ना सिर्फ विपक्षी पार्टियों ने बल्कि बीजेपी की ही कई बड़ी महिला नेताओं ने अपना विरोध जताया।

 

बयान के कुछ देर बाद ही विदेश मंत्री और बीजेपी की वरिष्ठ नेता सुषमा स्वराज ने नरेश अग्रवाल के बयान पर कड़ा ऐतराज जताया था। सुषमा स्वराज ने ट्वीट करते हुए नरेश अग्रवाल का बीजेपी में स्वागत किया, लेकिन उन्होंने जया बच्चन पर की गई उनकी टिप्पणी को अस्वीकार्य और गलत बताया है। सुषमा स्वराज के बाद स्मृति ईरानी और रूपा गांगुली ने भी नरेश अग्रवाल के बयान पर विरोध दर्ज कराया है।

अखिलेश ने भी किया वार

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी नरेश अग्रवाल के बयान की निंदा की है और बीजेपी से कड़ी कार्रवाई करने की अपील की। मंगलवार सुबह अखिलेश यादव ने ट्वीट किया, ''श्रीमती जया बच्चन जी पर की गई अभद्र टिप्पणी के लिए हम भाजपा के श्री नरेश अग्रवाल के बयान की कड़ी निंदा करते है। ये फिल्म जगत के साथ ही भारत की हर महिला का भी अपमान है। भाजपा अगर सच में नारी का सम्मान करती है तो तत्काल उनके ख़िलाफ कदम उठाये। महिला आयोग को भी कार्रवाई करनी चाहिए।''

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll