Home Top News Mulayam Singh Told Grand Daughter Father Stubborn Akhilesh Yadav Replied Yes

मध्य प्रदेश: बगोटा गांव में एक झोपड़ी में लगी आग, 3 बच्चों की मौत

हावड़ा से पटना जा रही तूफान एक्सप्रेस में लगी आग

2008 से चल रहा था रोटोमैक घोटाला: सीबीआई

बैंक घोटाले में 13 PNB बैंक अधिकारियों से पूछताछ जारी: सीबीआई

नाडा के पीएम 21 फरवरी को अमृतसर में पंजाब के सीएम से करेंगे मुलाकात

मुलायम ने पोती को चि‍ढ़ाया, जिद्दी है तुम्‍हारा बाप

Home | 10-Jan-2017 11:56:00 AM | Posted by - Admin

   
Mulayam singh told grand daughter father stubborn akhilesh yadav replied yes


दि राइजिंग न्‍यूज ब्‍यूरो

10 जनवरी,लखनऊ।

समाजवादी कुन्‍बा भले ही दो खेमों में बंट गया हो लेकिन लेकिन इस परिवार की दो बच्चियां इस सियासी जंग से बेपरवाह होकर दोनों खेमों में रौनक लाती रहती हैं और शांति और सुलह बहाली की उम्मीदें जगाती रहती हैं।

ये भी पढ़ें

भारतीय रेल यात्री कृपया ध्यान दें! ये खबर आप के लिए

जब कब्र के पास लटका दिखा भूत”, देखें ये हैरतअंगेज वीडियो


जहां दोनों गुटों में कभी सुलह और कभी नाराजगी बनी हुई है, ऐसी स्थिति के बीच संवाद का बीड़ा मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की बेटी 15 वर्षीय अदिति और 10 वर्षीय टीना ने उठाया है।

खबर के मुताबिक कुछ दिनों पहले सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने अपनी 10 वर्षीय पोती टीना को चिढ़ाते हुए कहा कि तुम्हारा बाप बहुत जिद्दी है। यह सुनते ही थोड़ी ही देर में टीना ने जाकर अपने पिता मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को हु-ब-हू संवाद सुना दिया। इसके जवाब में अखिलेश यादव ने मुस्कुराते हुए कहाहांवो तो है। अखिलेश और डिंपल यादव की बेटियां सियासी खींचतान की परवाह किए बिना अक्सर अपने दादा मुलायम सिंह से मिलने पहुंच जाती है।

ये भी पढ़ें

जब डिबेट में एक लड़का लड़की से हारा तो लड़की का किया ये हाल देखें वीडियो

रिजर्व बैंक ने नोटबंदी पर किया ये बड़ा खुलासा  

गौरतलब है कि अगले महीने उत्तर प्रदेश में विधान सभा चुनाव है और समाजवादी कुनबे में पार्टी पर वर्चस्व की लड़ाई जारी है। दोनों गुट फिलहाल चुनावी सभाओं से परहेज किए हुए है। दोनों की नजरें चुनाव आयोग पर टिकी हैं कि पार्टी का चुनाव चिह्न साइकिल किसे मिलता है।

इसबीच रह रहकर दोनों धड़ों में सुलह की भी कोशिशें होती रही हैं। एक तरफ मुलायम सिंह यादव के साथ छोटे भाई शिवपाल यादव और अमर सिंह हैं तो दूसरी तरफ मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के साथ दूसरे चाचा रामगोपाल यादव हैं। पार्टी का एक बड़ा तबका भी अखिलेश की ही तरफ है। लेकिन जब तक आयोग यह तय नहीं कर देता कि कौन सा धड़ा असली सपा हैतबतक चुनावी सरगर्मियों के बीच भी सपा में उदासी का आलम छाया हुआ ही रहने वाला है।

चुनाव आयोग ने दोनों गुटों से समर्थक विधायकोंविधान पार्षदोंसांसदों और पार्टी प्रतिनिधियों का हस्ताक्षरयुक्त हलफनामा सौंपने को कहा था। अखिलेश गुट पहले ही 1.5 लाख पन्नों का हलफनामा सौंप चुका है। मुलायम सिंह ने भी सोमवार को मिलकर चुनाव आयोग में अपने समर्थकों की लिस्ट और उनके हलफनामे सौंप दिए हैं। अब आयोग को इस पर फैसला करना है।

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555








TraffBoost.NET

Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll





Flicker News

Most read news

 


Most read news


Most read news