Arjun Kapoor and Malaika Arora Affair Updates

दि राइजिंग न्‍यूज

नई दिल्‍ली।

 

यूपी की पूर्व सीएम मायावती की पार्टी बसपा (बहुजन समाज पार्टी) के पास सभी राजनीतिक पार्टियों की तुलना में सबसे ज्यादा बैंक बैलेंस है। यह जानकारी आधिकारिक रिकॉर्ड से मिली है। बसपा ने 25 फरवरी को चुनाव आयोग को जो व्यय (एक्सपेंडीचर) रिपोर्ट सौंपी है उसके अनुसार उसके दिल्ली एनसीआर स्थित आठ सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक खातों में 669 करोड़ रुपये जमा हैं। 2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान पार्टी लगभग खाली हाथ रही थी।

बसपा ने घोषित किया है कि उसके पास 95.54 लाख रुपये नकद हैं। यह व्यय रिपोर्ट पार्टियों की घोषित आय के आधार पर है। बसपा की सहयोगी पार्टी समाजवादी पार्टी (सपा) दूसरे स्थान पर आती है। उसके बैंक खातों में 471 करोड़ रुपये जमा हैं। पिछले साल मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान और तेलंगाना में हुए विधानसभा चुनाव के दौरान पार्टी की बैंक में जमा राशि 11 करोड़ रुपये घट गई।

तीसरे नंबर पर कांग्रेस

रिपोर्ट के मुताबिक, कांग्रेस तीसरे स्थान पर है। उसके बैंक खातों में 196 करोड़ रुपये हैं। हालांकि, यह जानकारी पिछले साल दो नवंबर को कर्नाटक विधानसभा चुनाव के समापन के बाद आयोग को दी गई जानकारी पर आधारित है। पार्टी ने मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में मिली जीत के बाद अपने बैंक खातों में मौजूद नकदी को अपडेट नहीं किया है।

 

 

चौथे नंबर पर मौजूद तेलुगू देशम पार्टी (टीडीपी) के बैंक खातों में मौजूद राशि 107 करोड़ रुपये है। भाजपा पांचवें स्थान पर है। पार्टी के बैंक खातों में 82 करोड़ रुपये हैं। भाजपा ने दावा किया है कि उसने 2017-18 में कमाए गए 1027 करोड़ के चंदे में से 758 करोड़ खर्च कर दिए जो कि किसी भी पार्टी द्वारा खर्च की गई सबसे अधिक राशि है।

बसपा ने विधानसभा चुनाव के दौरान 24 करोड़ रुपए

सपा का कहना है कि उसके 11 करोड़ रुपये नंवबर-दिसंबर महीने में चार राज्यों में हुए चुनाव के दौरान खर्च हो गए। वहीं, बसपा का कहना है कि उसने विधानसभा चुनाव के दौरान 24 करोड़ रुपये जुटाए। जिसकी वजह से उसके बैंक खातों में मौजूद राशि 665 करोड़ से 670 करोड़ रुपये हो गई।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement