Priyanka Chopra Shares Her Experience of Health Issues

दि राइजिंग न्‍यूज

मुंबई।

 

अपनी विभिन्न मांगों को लेकर महाराष्‍ट्र के कई हिस्‍सों के किसान छह मार्च को नासिक से पैदल मार्च पर निकले थे। रविवार को 35000 से अधिक किसान मुंबई पहुंच गए। राज्य सरकार ने प्रदर्शनकारियों की मांगों को पूरा करने का वादा किया, लेकिन किसान सोमवार को विधानसभा के घेराव पर अड़े हुए हैं। शिवसेना, एनसीपी, कांग्रेस समेत अन्य दल किसानों के आंदोलन का समर्थन कर रहे हैं।

लाइव अपडेट्स:

  • मुख्यमंत्री ने कहा अगले 6 महीने में किसानों के मुद्दे सुलझा लेंगे।

  • मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा- किसानों की मांगों के लिए बातचीत कर रहे हैं।

  • महाराष्ट्र के सिंचाई मंत्री गिरीश महाजन ने कहा कि किसानों के साथ बैठक हुई है। सभी बातों पर चर्चा हुई। किसान खुश हैं। स्वयं उनके नेता आंदोलन को खत्म करने का ऐलान करेंगे।

  • 12-13 विषयों पर चर्चा हुई है। समाधान किया गया। कोई ऐसा मुद्दा या विषय नहीं रहा, जिसके कारण आंदोलन चले।

  • तीन घंटे तक चली सरकार और किसानों के बीच बैठक।

  • बैठक के बाद फडणवीस सरकार और किसानों में सहमति बनी, किसानों ने आंदोलन खत्म करने का आश्वासन दिया।

  • किसानों और सरकार के बीच चल रही बैठक खत्म, सरकार ने फॉरेस्ट लैंड पर 6 महीने के भीतर  निर्णय लेने का भरोसा दिया है। मंत्रियों का एक समूह इस मामले को देखेगा।

  • मुख्यमंत्री फडणवीस ने किसानों के प्रतिनिधि मंडल से मुलाकात की। मीटिंग के बाद उन्होंने कहा कि हम किसानों की मांगों के प्रति गंभीर और सकारात्मक हैं। तय समय में उनकी मांगे मानी जाएंगी। उन्होंने कहा कि पहले दिन से हम किसानों से बातचीत कर रहे हैं, गिरीश महाजन लगातार उनसे बात कर रहे थे, लेकिन किसान पैदल यात्रा का मन बना चुके थे।

  • किसानों का प्रतिनिधिमंडल विधानसभा पहुंच गया है। यहां मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और मंत्रियों की समिति से किसानों की बैठक चल रही है। इस मुलाकात के बाद ही किसान फैसला करेंगे कि उनका मार्च खत्म होगा या वो विधानसभा का घेराव करेंगे।

  • इससे पहले विधानसभा में मुख्यमंत्री फडणवीस ने कहा है कि किसानों की मांग को लेकर मंत्रियों की समिति और प्रतिनिधियों के साथ चर्चा होगी और सकारात्मक निर्णय लिया जाएगा। उन्होंने ये भी कहा कि किसानों की मांगों पर एक समयसीमा तय की जाएगी।

  • कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है यह केवल महाराष्ट्र के किसानों की मांग नहीं है, बल्कि पूरे देश के किसानों की यही समस्या है।

  • 6 मार्च को नासिक से निकलकर किसानों के काफिले में रविवार को मुंबई पहुंचते-पहुंचते करीब 40 हजार किसान जुड़ गए। ठाणे पहुंचने पर शिवसेना नेता और महाराष्ट्र सरकार में मंत्री ने भी उनसे मुलाकात की और समर्थन का ऐलान किया। यहां से किसान आगे बढ़ते हुए रात के वक्त मुंबई के ऐतिहासिक आजाद मैदान पहुंच गए हैं।

 

ये हैं मांगें

ऑल इंडिया किसान सभा के नेतृत्व में आंदोलनरत किसान राज्य सरकार के कर्ज माफी योजना के सही क्रियान्वयन, स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों को लागू करने, किसान की उपज का सही दाम दिलवाने और ओला वृष्टि से प्रभावित किसानों को उचित मुआवजा देने की मांग कर रहे हैं। साथ ही ये विभिन्न प्रोजेक्टों के लिए भूमि अधिग्रहण का भी विरोध कर रहे हैं।

 

 

छह मार्च को निकले थे किसान

ये किसान पिछले छह दिन से गरमी के बीच पैदल ही 180 किलोमीटर की दूरी तय कर मुंबई पहुंचे हैं। किसान सभा के अध्यक्ष किशन गुर्जर ने कहा कि अभी किसानों की संख्या 35000 से ज्यादा है। सोमवार 20000 से अधिक और किसान हमारे साथ जुड़ जाएंगे। 

ज्यादातर मांगों को पूरा करने का आश्वासन दिया

इस बीच राज्य सरकार में जल संसाधन मंत्री गिरीश महाजन ने मुलुंद में किसान नेताओं से मुलाकात की और उनकी ज्यादातर मांगों को पूरा करने का आश्वासन दिया। साथ ही किसानों के प्रतिनिधिमंडल को मुख्यमंत्री से मुलाकात कराने का भी वादा किया। शिवसेना की युवा इकाई के अध्यक्ष आदित्य ठाकरे ने पार्टी कोटे से मंत्री एकनाथ शिंदे के साथ विक्रोली में आंदोलनकारी किसानों से मुलाकात की। ठाकरे ने किसानों को भरोसा दिलाया कि उनकी पार्टी उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर साथ खड़ी है।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement