Home Top News Live Indian PM Narendra Modi Addressing People In Nepal

पाकिस्तान ने ईद की छुट्टियों के दौरान भारतीय फिल्मों के प्रसारण पर रोक लगाई

मुजफ्फरनगरः दूध पिलाती मां और बेटी को सांप ने काटा, दोनों की मौत

कर्नाटकः विधानसभा पहुंचे प्रोटेम स्पीकर

कर्नाटकः पुलिस कमिश्नर भी विधानसभा पहुंचे, अंदर भारी सुरक्षा व्यवस्था

कनाडाः भारतीय रेस्तरां में धमाका, CCTV फुटेज में दिखे 2 संदिग्ध

नेपाल दौरा: पीएम बोले-जनकपुर आना मेरे लिए सौभाग्य

Home | Last Updated : May 11, 2018 12:46 PM IST

Live Indian PM Narendra Modi Addressing People in Nepal


दि राइजिंग न्यूज़

काठमांडू।

 

भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो दिवसीय नेपाल दौरे पर हैं। गौरतलब है कि पीएम मोदी की ये तीसरी नेपाल यात्रा है। नेपाल के रक्षामंत्री ईश्वर पोखरेल और प्रदेश नंबर-दो के मुख्यमंत्री लालबाबू राउत ने प्रधानमंत्री का स्वागत किया।

 

पीएम मोदी ने इस मौके पर जनकपुर- अयोध्या के बीच चलने वाली बस को हरी झंडी दिखाई। बता दें कि ये बस गोरखपुर होकर गुजरेगी। इस बस में एक साथ 35 यात्री सवार हो सकते हैं। इसके बाद प्रधानमंत्री मोदी नागरिक अभिनन्दन समारोह में पहुंचे, जहां पारंपरिक गाजे-बाजे के साथ उनका स्वागत किया गया।

पीएम मोदी ने जनकपुर धाम परिसर में लोगों को संबोधित किया और कहा, “मैं जनकपुर आकर बहुत खुश हूं। मैं राजा जनक और माता जानकी के चरणों में प्रणाम करता हूं। मैं नेपाल के प्रधानमंत्री ओली का शुक्रिया अदा करता हूं। आज जिस तरह से नेपाल में मेरा स्वागत किया गया है यह दिखाता है कि किस तरह से नेपाल के लोग भारत को पंसद करते हैं।”

 

उन्होंने आगे कहा- “पूरी दुनिया में पर्यटन तेजी से बढ़ रहा है। आज मां जानकी के घर से रामायण सर्किट की शुरुआत होगी जो दोनों देशों के लोगों के लिए मिसाल साबित होगी।”

जनकपुर धाम में जनता को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, “जिस उत्तर प्रदेश के बनारस ने मुझे सांसद बनाया उस यूपी और नेपाल का नाता अतूलनीय है। आज दोनों देशों के लिए सीधी बस सेवा शुरू हो रही है जो दोनों देशों के लिए एक नया आयाम कायम करेगी।” उन्होंने कहा, “जनकपुरीधाम आना मेरे लिए सौभाग्य की बात है और मैं आज एकादशी के दिन इस मंदिर में हूं।”

 

पड़ोसी पहले की नीति को दर्शाती यात्रा

पीएम मोदी ने अपनी दो दिवसीय नेपाल यात्रा को अपनी सरकार की पड़ोसी पहले की नीति के प्रति प्रतिबद्ध्ता के रूप में परिभाषित किया है। उन्होंने कहा कि हिमालयी राज्य नए युग में प्रवेश कर चुका है। भारत उसका मजबूत साथी बना रहेगा। यह भारत और व्यक्तिगत रूप से मेरी प्राथमिकता को दिखाता है कि हम अपने दशकों पुराने और करीबी मित्र नेपाल से जुड़े रहना चाहते हैं। उच्च स्तरीय और नियमित संपर्क हमारी सरकार की पड़ोसी पहले की प्राथमिकता को दिखाते हैं।



" जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555 "


Loading...


Flicker News

Loading...

Most read news


Most read news


rising@8AM


Loading...