Complaint Filed Against Aditya Pancholi At Versova Police Station

दि राइजिंग न्यूज़

लखनऊ

बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने लोकसभा चुनाव के लिए गठबंधन का ऐलान कर दिया। साझा प्रेस वार्ता करते हुए दोनों ही नेताओं ने कहा कि राज्य की 80 लोकसभा सीटों में से सपा और बसपा 38-38 सीटों पर चुनाव लड़ेंगी। अमेठी (राहुल गांधी की सीट) और रायबरेली (सोनिया गांधी की सीट) में गठबंधन के उम्मीदवार नहीं उतारेंगे।

 

अखिलेश यादव क्या बोले

  • समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा हमारे कार्यकर्ताओं के बीच नफरत भी फैला सकती हैं।

  • उन्होंने आगे कहा की मायावती का अपमान यानी मेरा अपमान है। भाजपा ने हमेशा मायावती जी पर गलत टिप्पणी की है।

  • धर्म के नाम पर देश को बांटने का काम भाजपा ने किया है। इसलिए बसपा और सपा का गठबंधन हुआ है। ताकि सांप्रदायिक सरकार को हटाया जा सके।

  • भाजपा की गलत नीतियों के चलते किसान, बेरोजगार आत्महत्या कर रहे हैं

  • भाजपा ने भगवान को भी जाति में बांट दिया गया।

  • अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा की सरकार ने राज्य में केवल अत्याचार किया है। जाति पात के नाम पर राज्य के लोगों को बांटा गया है।

  • अगर वोटिंग मशीनों में गड़बड़ी नहीं हुई तो हमारा गठबंधन भाजपा को हरा देगा।

 

इस बार लंबा चेलेगा गठबंधन

  • सपा-बसपा के बीच कई साल बाद यह गठबंधन हुआ था। 1993 में भी दोनों दलों ने गठबंधन किया था। दो साल सरकार चली लेकिन 1995 के गेस्ट हाउस कांड के बाद गठबंधन टूट गया। इस पर मायावती ने कहा- गेस्ट हाउस कांड को किनारे करके देश हित और जन हित में हम सपा से गठबंधन कर रहे हैं। इस बार यह गठबंधन लंबा चलेगा। जब उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव होंगे, तब भी यह गठबंधन कायम रहेगा। वहीं, सपा प्रमुख अखिलेश ने भी कहा कि सपा का हर कार्यकर्ता आज से यह मान ले कि मायावतजी का सम्मान, मेरा सम्मान है। उनका अपमान, मेरा अपमान होगा।

  • मायावती ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा के राष्ट्रीय अमित शाह, इन दोनों गुरु-चेले की नींद उड़ा देने वाली प्रेस कॉन्फ्रेंस है। पिछली बार गठबंधन कर चुना लड़ा गया था। उत्तर प्रदेश में हवा का रुख बदलते हुए भाजपा जैसी जातिवादी पार्टी को पछाड़ते हुए सरकार बनाई गई थी।

  • मायावती ने कहा, प्रदेश की जनता त्राहि-त्राहि कर रही थी। आज भी देश की सवा सौ करोड़ की आम जनता भाजपा की वादाखिलाफी से जूझ रही है। किसान, व्यापारी विरोधी नीतियों, अहंकारी और तानाशाही वाले रवैये से जनता दुखी है। इसलिए बसपा और सपा ने व्यापक जनहित को ध्यान में रखकर एकजुट होने की जरूरत महसूस की है।’’

https://www.therisingnews.com/?utm_medium=thepizzaking_notification&utm_source=web&utm_campaign=web_thepizzaking&notification_source=thepizzaking

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement